गाजर के फायदे || importance of carrot || gajar ke fayde

 

स्वास्थ्य के लिए गाजर बड़ा ही महत्वपूर्ण है | इसके सेवन से सेहत और सौंदर्य दोनों ही बना रहता है | यह पौष्टिक तत्वों से भरपूर मूल है इसे कच्चा और पक्का कर दोनों तरह से खाया जा सकता है | कच्चा गाजर को चबाकर खाया जा सकता है और उसका रस निकालकर पिया जा सकता है | गाजर में प्रोटीन, विटामिन सी, कैल्शियम, फास्फोरस, आयरन, प्रोटीन, फैट्स और बहुत सारे मिनरल्स होते हैं जो हमारे शरीर के लिए बहुत ही आवश्यक है | इसी तरह गाजर हमारे लिए और बहुत
चीजों में लाभदायक होता है जो हम आपको बताएँगे | 
आंखों के लिए होता है लाभदायक
यह नेत्र ज्योति को बनाए रखता है | गाजर नेत्रों के लिए बहुत ही हितकारी है | यह कैरोटीन का उत्तम स्रोत है जिससे हमारे शरीर द्वारा विटामिन ए बनाया जा सकता है | विटामिन ए का सेवन नेत्र ज्योति बनाए रखता है, तथा रतौंधी से बचाव करता है | गाजर का सेवन करने वालों को रतौंधी नहीं होती है | रतौंधी होने पर लगातार एक माह तक रोज एक पाव गाजर खाने से क्या एक गिलास गाजर का रस पीने से रतौंधी दूर हो जाती है |
कब्ज के लिए है लाभदायक
गाजर कब्ज नाशक भी है | रोज एक पाव कच्चा गाजर चबाकर खाने से कब्ज नहीं रहता है | और पेट एक दम साफ हो जाता है | लगातार कुछ महीनों तक यह प्रयोग करते रहने से कब्ज दूर हो जाता है |
काम शक्ति को बढ़ाता है
गाजर काम शक्तिवर्धक भी है | रोज सुबह के नाश्ते में एक पाव कच्चा गाजर चबाकर खाने से बल वीर्य की वृद्धि होती है | वीर्य पुष्ट एवं गाढ़ा हो जाता है | तथा शुक्राणुओं की संख्या में भी वृद्धि होती है | यौन दुर्बलता में गाजर का हलवा आपके लिए बहुत अच्छा साबित हो सकता है |
रक्त साफ करता है
 
गाजर रक्तशोधक भी है | इसमें क्षारीय तत्व पर्याप्त मात्रा में पाए जाते हैं जो हमारे रक्त को शुद्ध करते हैं, तथा शक्ति का पुनः संचार करते हैं | क्षारीय तत्व स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है | गाजर रक्तशोधक होने के कारण चर्म रोगों में बहुत उपयोगी है | दाग खाज एक्जिमा आदि चर्म रोग से ग्रस्त रोगियों को चिकित्सक गाजर का रस पीने की सलाह देते हैं | क्योंकि गाजर में कैरोटीन अधिक होता है जिसके कारण चर्म रोग दूर हो जाता है |
कृमि रोग में है उपयोगी 
गाजर कृमि रोग में भी उपयोगी है | पेट में कृमि हो जाने पर रोज सुबह गाजर का रस पीने से कृमि रोग दूर हो जाता है | अगर आपको भी कृमि रोग है हो बताये हुए तरीके से गाजर का इस्तेमाल करें |
गर्भावस्था में है लाभदायक
 
गर्भावस्था के अंतिम 3 महीनों में गाजर का रस नियमित रूप से पीने से प्रसव के समय संक्रमण का भय नहीं रहता है तथा गर्भवती स्त्री को पूर्ण पोषण प्राप्त होता है और शरीर में खून की कमी नहीं होती है|
संक्षेप में गाजर स्वास्थ्य के लिए अत्यंत लाभदायक है | इसके सेवन से शारीरिक बल और सौंदर्य दोनों बरकरार रहते हैं |

Sarthak Upadhyay

Sarthak Upadhyay is a health blogger and creative writer, who loves to explore various facts, ideas, and aspects of life and pen them down. The whole site is managed by him. Writing is his passion and enjoys writing on a vast variety of subjects. Periods, pregnancy, and Home-remedies are his specialty areas.

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *