मिल गया कैंसर के लिए इलाज – cancer ka ilaj ke liye upay

Posted on

cancer जिसे लाइलाज बीमारी कहा जाता है से कई लोग पीड़ित है, और इससे बचने के लिए आदमी कई उपचार भी कराता है | लेकिन, उससे उसको कोई फायदा नहीं मिलता है | हम जो आपको बताने जा रहे हैं वो आपको कैंसर से छुटकारा तो नहीं दिला पाएगा लेकिन, आप इन आयुर्वेदिक टिप्स का इस्तेमाल कर अपने आप को कैंसर की समस्या से पीडित होने पर भी सेफ रख सकते हैं | इन उपाय का इस्तेमाल आपके cancer के पीड़ित होने पर भी आपकी जिन्दगी को बचा सकते हैं | 

cancer ka ilaj ke liye  उपयोग करें हल्दी और गौमूत्र (पुननर्वा)

cancer से राहत पाने के लिए हल्दी का इस्तेमाल करना आपके लिए बेहतर साबित हो सकता है | दरअसल, हल्दी में करक्यूमिन नामक एक तत्व पाया जाता है जो कैंसर  से लड़ने में एक रामबाण इलाज साबित होता है | इसके खातिर आप अपने खाने में हल्दी का सेवन करना न भूलें | इसके साथ गौमूत्र का इस्तेमाल भी आपको कैंसर की समस्या से छुटकारा दिलाने में मदद करेगा | तो चलिए जानते हैं कि ये दवा कैसे बनाए |

कैसे बनाए पुननर्वा ? और करें कैंसर का इलाज

पुननार्वा बनाने के लिए आपको गौमूत्र और हल्दी की विशेष आवश्यकता होती है | इसके खातिर आप एक ऐसी गाय का चयन करें, जो पूरे तरह से कली हो और वह गर्भवती न हो | ध्यान रहे वह गर्भवती न हो | अगर इस जगह कोई काली बछड़ी होती है तो आप का इलाज और भी अच्छा बन जाएगा | उस गाय या बछड़ी के मूत्र को रख लें | अब उस एक गिलास मूत्र में १ चम्मच पीसी हुई हल्दी मिला लें | हल्दी मिलाने के बाद आप इस मिश्रण को आंच में देर तक उबाल लें | अब आप इसे रात में ठंडा होने के लिए किसी बर्तन में रख दें | सुबह आप इसे किसी कांच के बोतल में भर के धूप में रख दें | अब आप इस मूत्र का दिन में 3 बार और रात में सोने के पहले 2 बार सेवन करें | “मिल गया कैंसर  के लिए इलाज” इससे आपको कुछ ही दिनों में फर्क नजर आने लगेगा | 1 महीने के अंदर एक बार फिर से अपना चेक अप कराएं | अगर रिपोर्ट में पहले के मुताबिक़ कम रिजल्ट आए तो आप इस प्रयोग का नियमित इस्तेमाल करते रहे |अगर आप चाहे तो आयुर्वेदिक पुननर्वा आप किसी आयुर्वेदिक स्टोर से खरीद सकते हैं | साथ में यह भी ध्यान रखें कि इस प्रयोग के दौरान आप अपने खाने में हल्दी को शामिल करना न भूलें | 

cancer ka ilaj के लिए अन्य आयुर्वेदिक उपाय :

रोज पिए गाय का मूत्र – गाय के मूत्र में कई कैंसर विरोधी तत्व पाए जाते हैं, जो हमारे शरीर को कैंसर से प्रोटेक्ट करने में बहुत मदद करता है | इसलिए आप दिन में कम से कम 3 गिलास दूध जरूर पियें | 

तुलसी- तुलसी और हल्दी को मिलाकर, इसका सेवन करें इससे आपको कैंसर की समस्या से राहत मिल सकती है | यह मुह के कैंसर को ख़तम करने का एक बेहतर उदाहरण है | 

पानी का खूब इस्तेमाल करें – पानी की मदद से आप अपने आपको cancer की घातक बीमारी से ज्यादा समय के लिए काबिल कर सकते हैं | इसके लिए आप रात में किसी तांबे के बर्तन में पानी रल्ह दें और दुसरे दिन इसी का पानी पियें |  

 हरी सब्जियां- हरी सब्जियाँ जैसे ब्रोकोली, पत्तागोभी में कई कैंसर  विरोधी तत्व पाए जाते हैं जो आपको cancer की समस्या से बचाने में आपकी मदद कर सकते हैं | ‘मिल गया cancer के लिए इलाज’ दरअसल, येcancer के cells को नष्ट कर आपको कैंसर से छुटकारा दिलाने में आपकी मदद करते हैं | 

ग्रीन टी – ग्रीन टी भी आपको cancer की समस्या से बचाने में आपकी मदद करता है | इसके लिए आप दिन में तीन बार अपने खुराक में ग्रीन टी शामिल करें |

सोयाबीन से बने पदार्थों के सेवन से आप cancer के खतरे को कम कर सकते हैं | अपने दैनिक काम में सूरज की रोशनी शामिल करें | 

cancer से बचने के लिए कुछ टिप्स:

  • कई लोगों के साथ यौन सम्बन्ध गर्भाशय में होने वाले cancer के खतरे को बचाने में आपकी मदद कर सकता है |
  • grains और ग्रीन लीफी vegetables आपके कैंसर के खतरे को कम कर सकती हैं|
  • खाना में नमक की मौजूदगी को कम कर दें | हो सके तो नमक का कम से कम सेवन करें|
  • बीच-बीच में cancer की जाँच करवाना न भूलें, अगर आपको कैंसर के शुरू होने के समय ही पता चल जाए तो इसे बड़े ही आसानी से ख़तम किया जा सकता है |
  • छोटे-मोटे बीमारियों में कोई दवाई न ले |
  • अपने जीवनशैली में व्यायाम शामिल करें |
  • कम कैलोरी वाले खाने को ही अपने आहार में शामिल करें |
  • यह ध्यान दें कि आप तम्बाकू, सिगरेट आदि नशों से दूरी बनाए रहें |
  • खाने में लहसुन को शामिल करें |
  • अगर आप ड्राई फ्रूट्स का इस्तेमाल करते है तो अपने आपको cancer की समस्या से काफे दूर रख सकते हैं |

 इस तरह से आप इन तरीकों का इस्तेमाल कर के अपने आपको कैंसर की समस्या से छुटकारा दिला सकते हैं |अगर आपको हमारे द्वारा दी गई टिप्स पसंद आई हो तो कमेंट करना न भूलें और इसे कई लोगों तक शेयर भी करें ताकि सभी इसके बारे में जान सकें |

tags:   cancer ka ilaj, cancer se chutkara kaise paye, cancer ke liye dawaai, cancer ka gharelu dawaai ya upchar, cancer se kaise bache, cancer se bachne ke tareeke, cancer se chutkara kaise pae

आपके खातिर हमारे कुछ और लेख

मेरे बारे में कुछ ख़ास सुनना चाहेंगे तो वो है मेरा साधारण होना| मेरे को एक बीमारी भी है “सोचने की बीमारी” मैं खुद को इससे बचा ही नहीं पाता| इसी बीमारी ने मुझे लिखने का जज्बा दिया| गहराइयों में उतरने की आदत है मेरी, हालाँकि ज़्यादातर लोग इससे डरते है, बचते है, डूबने का खतरा जो होता है। लेकिन मैं अपनी कोशिश जारी रखता हूँ”। आशा करता हूँ के मेरे द्वारा प्रदान किये गए सभी हेल्थ जानकारी आपको पसंद आएगी| इन हेल्थ जानकारियों को मैं आयुर्वेद के सलाहकार की मदद से आप तक पहुंचाने की कोशिश करता हूँ| खैर मुझे पता है कि मेरा आपको स्वस्थ रखने का प्रयास खारिज नहीं जाएगा| बस पढ़ते रहे- शुक्रिया!

6 thoughts on “मिल गया कैंसर के लिए इलाज – cancer ka ilaj ke liye upay

  1. इस इलाज से अभी तक किसी को कोई फायदा हुआ है ? यदि हाँ तो अपनी जानकारी विस्तार से देवें ।या मुझे व्हाट्सएप्प करे 9425991959 सोमशेखर शर्मा

    1. सोमशेखर जी, जैसा की आप सभी को पता है की कैंसर एक लाइलाज बीमारी है| इसका इलाज नहीं किया जा सकता है| लेकिन, अगर आप ऊपर बताए गए नुस्खे को उपयोग में लाते हैं तो लाइफ को बढ़ाया जा सकता है| हालाकि, हमारे पास आई रिपोर्ट के मुताबिक़ कई ऐसे मरीज हैं जिनके कैंसर को इस तरकीब से दूर किया जा चूका है| इस इलाज को प्रसिद्ध आयुर्वेद सलाहकार राजीव दिक्सित के द्वारा दिया गया है।अगर कैंसर के शुरुआती लक्षण में पुनर्नवा को शामिल कर लिया जाए और इसके साथ कैंसर के दौरान विशेष खान-पान किया जाए और कसरत किआ जाए तो कैंसर को ठीक किया जा सकता है। लेकिन, ध्यान रहे इससे कैंसर का पूर्ण इलाज तभी संभव है जब आप को कैंसर का पता उसके होने के कुछ ही दिनों में पता चल जाए वरना इलाज नही हो सकेगा, लेकिन, अगर आप 1 साल जीने वाले हैं तो आप अधिकतम 5 साल अपनी उम्र बढ़ा सकते हैं। यहाँ तक की पूरा जीवन जिंदा रह सकते हैं।
      अगर कोई सवाल फिर भी हो तो पूँछ सकते हैं।

    1. जी हाँ इस उपाय को अपना कर कुछ हद तक आप अपने जीवन की रक्षा आसानी से कर सकते हैं |

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *