ह्रदय रोग – कारण, लक्षण और उपचार || heart disease rog ke karan

Posted on
 
 
 
 
 
 
हृदय रोग जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग ग्रसित हैं और इससे सिर्फ ह्रदय रोग ही नहीं मौत को चुनौती भी देना पड़ता है  और दवाइयों का भी ज्यादा असर नहीं पड़ता है | देखा जाए तो  मनुष्य का हृदय  60 सेकंड  में  72  बार  धड़कता है   और ये बर्बाद हो गया तो जीवन समाप्त हो जाता है | इसलिए  आज हम हृदय रोग क्यों होता है  अर्थात  उसका कारण, लक्षण और साथ ही उससे बचने के उपाय को जानने की कोशिश करेंगे | इनसे आपका हृदय रोग बहुत ही जल्दी ठीक हो जाएगा और आप अपना स्वस्थ जीवन व्यतीत कर पाएंगे |
                                                                             
हृदय रोग के कारण :-
धूम्रपान करने से
जो लोग धूम्रपान करते हैं, वो लोग पक्का ही हृदय रोग से ग्रसित होंगे | अगर आप भी धूम्रपान करते हैं, तो समझ जाइए कि आपको भी हृदय रोग होने वाला है | इसलिए अगर आपको हृदय रोग से दूर रहना है, तो धूम्रपान ना ही करें और अगर आप धूम्रपान करते हैं ,तो हृदय रोग से लड़ने के लिए तैयार हो जाएं |
चर्बी ज्यादा बढ़ जाने से
मोटापा जिससे इस समय ज्यादा से ज्यादा रोग बढ़ जाते हैं और देखा जाए तो हर व्यक्ति मोटापा या चर्बी से परेशान ही होता है, इसलिए अगर आप को हृदय रोग से दूर रहना है, तो मोटापा कम करें | इसके लिए आप lyfcure.com  में मोटापा कम करने के उपाय देख सकते है |
क्या आपको मधुमेह तो नहीं
अगर आपको मधुमेह है, तो आप तो पहले से ही एक खतरनाक बीमारी से परेशान होंगे | लेकिन अगर मधुमेह है, तो मधुमेह के कारण हृदय रोग का भी जन्म हो जाता है | इसलिए जल्द से जल्द मधुमेह का इलाज करवाएं और हृदय रोग से भी दूरी बनाए रखें | ऐसी चीजें या खाने वाले पदार्थ जिससे मधुमेह होता है, चीजो का इस्तेमाल कम से कम करे,क्योंकि मधुमेह होने से आपको हृदय रोग का भी सामना करना पड़ सकता है |
उच्च रक्तचाप
क्या आपको मालूम है कि जो लोग उच्च रक्तचाप की समस्या से पीडित हैं उन्हें भी ह्रदय रोग का सामना करना पड़ सकता है | इसलिए उच्च रक्त चाप की बीमारी ना ही रहे अन्यथा फिर इस बीमारी से एक खतरनाक बीमारी हृदय रोग का भी जन्म होता है और ह्रदय रोग से कई सारी बीमारियो का उत्पाद होता हैं |
ज्यादा चिंता करने से
अगर आप ज्यादा चिंता करते हैं तो इसका दुष्प्रभाव आपके हृदय में पड़ता है और आप भी हृदय रोग से परेशान होने लगते हैं | ज्यादा चिंता करने से हृदय में तो दुष्प्रभाव पड़ता ही है और हार्ट अटैक की संभावना बनी रहती है |
 
शराब पीने से हृदय रोग
शराब तो वैसे भी एक  जहर के समान होता है  | लेकिन , आजकल  इसका उपयोग  बड़े से छोटे तक करने लगे हैं  और जो लोग मदिरापान करते हैं वो सावधान हो जाए | क्योंकि, मदिरापान करने से हृदय रोग को भी चुनौती देना पड़ता है और फिर बाद में अनेक प्रकार की दवाइयां करवानी पड़ती है |
हृदय रोग के लक्षण :-
Ø  हृदय रोग का मुख्य लक्षण छाती के बीच में दर्द होना है और यह लक्षण साफ़ ही बताता है कि आप हृदय रोग से ग्रसित हैं  |
Ø  अगर आपको भी महसूस होता है कि छाती के ऊपर भारी भारी सा लग रहा है तो यह भी हृदय रोग के कारण में ही आता है |
Ø  पेट में जलन से आप समझ जाइए की हृदय रोग आपको भी हैं और जो लोग हृदय रोग से ग्रसित होते हैं आप ध्यान दीजिए जरूर ही उनके पेट में जलन होता होगा |
Ø  हृदय रोग का लक्षण कमजोरी महसूस करना भी है और अगर आप मधुमेह रोगी हैं तो आपको कभी भी हृदय  रोग या हार्ट अटैक मार सकता है | जिससे आपकी मृत्यु भी हो सकती है  |
हृदय रोग से बचने के उपाय
सेब
सेब के इस्तेमाल से आप बड़े ही आसानी से अपने ह्रदय को स्वस्थ्य रख सकते हैं | अगर आप डेली 1 या 2 सेब का इस्तेमाल करते हैं तो आप बड़े ही आसानी से अपने हृदय में रक्त के प्रवाह को मेन्टेन रख सकते है | इससे हार्ट अटैक से भी बचा जा सकता है |
लहसुन
अगर आप नियमित रोप से 2 जबा कच्ची लहसुन का इस्तेमाल करते हैं तो इससे आप अपने ह्रदय को स्वस्थ रख सकते हैं |
आंवला
आंवला के इस्तेमाल से आप बड़े ही आसानी से अपने हार्ट को एक दम से स्वस्थ रख सकते हैं | इसके लिए आप खाने में हरे आंवला को शामिल करें या फोइर आंवला का जूस या आंवला का अचार शामिल करें |
शहद
अगर आप नियमित रूप से शहद का सेवन करते हैं तो आप बड़े ही आसानी से अपने ह्रदय को स्वस्थ रख सकते हैं | इसके लिए आप अपने जीवनशैली में शहद को शामिल करें, अगर आप रोज एक चम्मच शहद का इस्तेमाल करते हैं तो आप बड़े ही आसानी से अपने ह्रदय को स्वस्थ रख सकते है |
घिया
अगर आप नियमित रूप से एक गिलास घिया के जूस का सेवन करते हैं तो आप बड़े ही आसानी से अपने हार्ट को स्वस्थ रख सकते हैं |
अर्जुन की छाल
अर्जुन की छाल का काढा का इस्तेमाल आपको और आपके हार्ट को स्वस्थ रखता है | इसके लिए आप रोज सुबह अथवा शाम को अर्जुन के छाल का काढ़ा पियें |
प्राणायाम
प्राणायाम बहुत ही बेहतर विधि है जिसकी मदद से आप बड़े ही आसानी से अपने ह्रदय को स्वस्थ रख सकते हैं | इसके लिए आप हर प्रकार के प्राणायम का इस्तेमाल कर सकते हैं |
योगासन
योग एक ऐसी विधि है जिसकी मदद से आप बड़े ही आसानी से अपने कई रोगों को खतम कर सकते है | इसमें ह्रदय रोग भी शामिल है |
अगर आपको किसी भी प्रकार की ह्रदय संबंधी समस्या है तो आप अपने दिनचर्या में वज्रासन, गौमुखासन, और सर्पासन को शामिल करें | इससे आप अपने ह्रदय और अपने आपको भी स्वस्थ रख सकते हैं |
अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे शेयर करना न भूलें | साथ ही अगर आपको इससे सम्बंधित किसी भी तरह का सवाल है तो आप हमारे contact us में दिए गए mail के द्वारा सवाल पूछ सकते हैं |
Tags:  ह्रदय रोग के कारण, ह्रदय रोग से बचाव, ह्रदय रोग के लक्षण, हार्ट डिजीज के कारण, हार्ट डिजीज के लक्षण, हार्ट डिजीज से बचाव, दिल की बीमरियों के कारण, दिल की बीमारियों के लक्षण, दिल की बीमारियों का इलाज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *