कैसे जाने कि गर्भ में लड़का है या लड़की के लक्षण – kaise jane garbh me ladka hai ya ladki

कानूनी रूप से सोनोग्रापी से बच्चे का लिंग पता करना अपराध है। हम यहाँ पर आपको बस कुछ ऐसे तरीके बताएँगे जिससे आप यह अंदाजा लगा सकेंगे की आपके पेट में लड़का या लड़की होने के लक्षण ( kaise jane garbh me ladka hai ya ladki) हैं। फिलहाल हम आपकी जिज्ञासा को शांत करने और आपको अपराध से बचने के लिए इन शोध किये गए लक्षण लेकर उपस्थित हुए हैं।

महिला के गर्भवती होने पर हर किसी की यही जिज्ञासा होती है कि उसके घर में आने वाला नन्हा मेहमान का जेंडर क्या होगा? कुछ ऐसे तरीके हैं जिनकी मदद से आप यह पता लगा सकते हैं कि आपके पेट में पल रहा शिशु लड़का है या लड़की। चलिए जानते हैं कि बिना अल्ट्रासाउंड के कैसे पता लगाएँ कि पेट में उपस्थित शिशु का वास्तव में क्या जेंडर (gender) है? पर बताए गए सभी विचार एक बेहतर रिसर्च के बाद सामने आए हैं।

ब्रैस्ट में निप्पल का रंग कैसा है

जिन महिलाओं के गर्भावस्था के दौरान निप्पल का कलर अगर गाढा नजर आता है तो यह बात दावा की जाती है कि पल रहा बच्चा लड़का है।

मीठा सोडा से करें जांच

महिला सुबह उठते ही अपने मूत्र (यूरिन) को एक कटोरी में रख ले। उस कटोरी में एक चम्मच मीठा सोड़ा डालें। अगर झाग उठता है तो लड़की है। और अगर झाग नहीं उठता है तो लड़का है।

अगर यूरिन है पीला

पेट में पल रहा बच्चा अगर लड़का है तो मूत्र यानि युरिन का कलर गाढ़ा पीला होगा। वहीं अगर पेट में पल रहा शिशु एक बालिका है तो मूत्र का कलर हल्का पीला होगा।

बच्चा कहाँ फील होता है?

अगर पेट में पल रहा बच्चा पेट में ऊपर की ओर प्रतीत होता है तो यह कहा जा सकता है कि पेट में पल रहा बच्चा लड़की है और यहीं अगर पेट नीचे की और फूला हुआ नजर आता है तो गर्भ में पल रहा बच्चा लड़का है।

दूध से चेक करे

महिला के स्तन का दूध निकाल लें और उसमे बाल में होने वाली जूँ (जूँआ) डाल दें। अगर जुआ बिना मरे बाहर आ जाए तो लड़की होगी। अगर नहीं आए तो लड़का होगा।

सुबह उठने पर

अगर महिला सुबह के दौरान उठने में थका हुआ महसूस करती है तो गर्भ में पल रहा शिशु लड़की ही है। यहीं अगर उलटा होता है तो पेट में पल रहा बच्चा लड़का हो सकता है।

स्तन का आकार

kaise jane garbh me ladka hai ya ladki- अगर आपके राईट स्तन लेफ्ट स्तन के मुकाबले बड़ा है तो पेट में लड़का है और अगर लेफ्ट स्तन बड़ा है तो पेट में पल रहा बच्चा लड़की है। साथ ही सम्भोग के दौरान अगर x और x chromosome का मिलन हो तो लड़की और अगर x और y chromosome का मिलन हो तो लड़का होता है।

त्वचा का निखार

गर्भावस्था में अगर त्वचा में निखार हो रहा है तो पेट में पल रहा शिशु लड़का है। वहीं अगर चेहरे में पिम्पल्स आदि कई त्वचा सम्बन्धी समस्याएँ हो रही है तो जरूर लड़की है।

हाँथ कैसे हैं

अगर हाँथ सुंदर,लचीले, गोरे और कोमल है तो गर्भ में पल रहा शिशु लड़की होगी। साथ ही अगर हाँथ मर्दों की तरह कड़क हो गए हैं, निखर गायब हो गया है तो शिशु लड़का है।

FHR से जाने लड़का या लड़की (ladka ya ladki) 

यह साइंटिफिक रूप से प्रमाणित किया जा चुका है की अगर आपके गर्भ में पल रहे बच्चे का FHR (फेटल हार्ट रेट ) 140 से कम है तो लड़का होने के चांस ज्यादा होते हैं, और यहीं अगर उलटा हुआ उर फेटल हीट रेट 140 से ज्यादा होता है तो लड़की होने के संकेत ज्यादा रहते हैं।

दिल की धड़कन कैसी है?

तेज धड़कन गर्भ में पल रहे बच्चे का यह दावा करती है कि वह एक लड़की है। यहीं अगर दिल की धड़कन कम हो तो पल रहा बच्चा लड़का है।

अगर मूड में हो रहा है बदलाव

kaise jane garbh me ladka hai ya ladki में महिला के मूड में बार-बार बदलाव हो रहा है तो पल रहा बच्चा लड़की है। फॉर example- अभी घूमने का मन था लेकिन, कुछ ही देर में घूमने के बजाय टी.वी देखने का मन करने लगे।

बच्चा लात कहाँ मारता है?

पेट में पल रहा शिशु अगर आपके पसली पर अपनी क्रिया ज्यादा करता है और वहाँ पर ज्यादा लात मारता है तो लड़की है, यहीं अगर बच्चा पेट के निचले हिस्से पर लात मारता है तो यह लड़का होने के लक्षण है।

 अन्य लक्षण:

अगर होगी लड़की तो क्या होगा?

  1. हिप्स (पिछवाड़ा) में उभार।
  2. महिलाएं जो लड़की को स्थान दिए रहती हैं वे अक्सर दाहिने और सोती हैं। ladka pet me kis side rhta hai
  3. अगर गर्भ में लड़की है तो बाल बेजान नजर आने लगते हैं।

अगर लड़का होगा तो क्या होगा?

  1. महिला के हांथों और पैरों में सीजन के मुताबिक ज्यादा ठंडाहत महसूस होगी।
  2. सिर में अक्सर दर्द होना।
  3. वजन का ज्यादा हो जाना भी गर्भ में लड़के का दावा करता है।
  4. ऐसी महिलाएँ हमेशा लेफ्ट साइड में ही स्लीप्प करना पसंद करती हैं।

बच्चे के लिं*ग का पता लगाने के लिए मेडिकल में कैसे जांच की जाती है :

kaise jane garbh me ladka hai ya ladki hone ke lakshan में कई मेडिकल जांच भी की जाती है जो गर्भ में लड़का है या लड़की या लड़का होने के लक्षण का दावा करती है। जिन्हें फॉलो कर आप टेस्ट करा सकती हैं। लेकिंम इससे पहले शुरुआत करें बताना चाहेंगे की भारत में जेंडर की जांच कराना प्रतिबंधित है, लेकिन, इसके बारे में आप जान सकते हैं।

D.NA ब्लड टेस्ट से जाने – प्रेगनेंसी में 9 वें सप्ताह के बाद आप डॉक्टर के पास जाकर D.N.A की प्रक्रिया से ब्लड टेस्ट करा सकती हैं। इसमें डॉक्टर आपके ब्लड को टेस्ट के लिए लेगा और 1 सप्ताह में आपको रेस्जल्ट दे देगा की आप लड़का होने के लक्षण में हैं या लड़की होने के ल्स्क्षण में हैं।

अल्ट्रासाउंड से जाने लड़का होगा या लड़की – ultrasound se kaise pata kare ki ladka hai ya ladki

आप अल्ट्रासाउंड के माध्यम से अपने बच्चे के लिंग का पता लगा सकते हैं। यह प्रोसेस 18 से 20 सप्ताह के बीच की जाती है। इस प्रोसेस में, अल्ट्रासोनोग्राफर (Ultrasonographer) स्क्रीन पर आपके बच्चे की इमेज नजर आएगी  और कई तरह से यह मशीन  जन*नांगों की जांच करेगीजो लड़के या लड़की होने को बताएगी।

पुराने समय में मानते थे इन बातों को आधार

गर्भ में बालक है या नहीं इसका निर्णय अत्यंत विचारणीय है । समस्त संसार में इस विषय पर अन्वेषण (खोज) हुआ है फिर भी निश्चित सिद्धांत पर आजकल के वैज्ञानिक नहीं पहुंच पाए हैं । इस महत्वपूर्ण निर्णय के लिए हमारे ऋषि मुनि ने अत्यंत गहरा विचार किया था । अतः मैं प्रथम पूर्व आचार्यों के इस कथन को आपके समक्ष उपस्थित करता हूँ।

ऋषि मुनियों द्वारा अन्वेषण

जिस गर्भवती के दाहिने स्तन में प्रथम दुग्ध दृष्टिगोचर हो तथा दाहिनी आंख कुछ कुछ भारी जान पड़े और दाहिनी ही स्तन में भारीपन हो तो लड़का होने के लक्षण होते हैं। लड़का दाहिनी कोख में रहता है और गर्भवती के गर्भाशय में दूसरे महीने से गोल पिंड सा मालूम होने लगता है जिस स्त्री के गर्भ में पुत्र होता है उसका दाहिनी कोख भारी तथा दाहिनी आंख कुछ बड़ी दिखने लगती है और दाहिनी जांघ मोटी हो जाती है । स्त्री जो भी काम करती है वह दाएँ अंग से ही प्रारंभ करती है उठते वक़्त दाहिना हाथ देखकर उठती है चलते समय दाहिना पैर आगे उठा कर चलती है अर्थात दाहिने अंग का उपयोग वह अधिक करती है ।

kaise jane garbh me ladka hai ya ladki में दाहिना अंग अधिक भारी हो जाता है, पेट के दाहिने भाग में गर्भ का लक्षण मालूम होता है और प्रथम दाहिने स्तन से ही दूध उत्पन्न होता है, पुरुष नाम वाली वस्तुओं पर उसकी इच्छा होती है, पुरुषवाचक द्रव्यों को चाहे तथा स्वप्न में कमल कुमुद आंवला आदि पुरुष नाम वाचक पदार्थ को देखें या प्राप्त करें, पुरुष संघ

(यौनक्रिया) की इच्छा बिल्कुल नहीं होती, खाने पीने की इच्छा कम होती है, अच्छी अच्छी खाने की वस्तुओं की इच्छा होती है और निद्रा कम आती है, मुक्त तथा रूप सुंदर हो तो कहना चाहिए कि उसके पुत्र होगा और उसके ठीक विपरीत होने पर कन्या होगी ऐसा समझना चाहिए l

 कई अन्य विचार 

  1. अगर दाईं आंख के नीचे नीले रंग का वक्र हो, अधिक बिगड़े हुए वर्ड वाला ना हो तो निश्चय ही पुत्र होगा यदि यही चिन्ह बाई आंख में दृष्टि पड़े तो निश्चय ही पुत्री होगी ।
  2. गर्भवती के दुग्ध की एक बूंद साफ जल से भरे हुए एक पात्र में डालो यदि दूध की बूंद जैसी की तैसी पात्र में बैठ जाए तो कन्या और दुग्ध बिंदु फैल जाए अथवा तैरती रहे तो लड़का उत्पन्न होगा। kaise jane garbh me ladka hai ya ladki-
  3. गर्भवती के दूध को कांच के आईने पर छोड़ दो उस पर एक जूँ डुबो कर रख दो । अगर जूँ जीवित दूध से बाहर निकल आए तो लड़की होगी अन्यथा लड़का होगा ।

 यूनानी चिकित्सकों का निर्णय 

संभोग समय में अगर पुरुष के दाएं अंडकोष से वीर्य, स्त्री के दाएं कोख में गिरे तो लड़का और पुरुष के बाएं कोष से स्त्री के बाएं कोष में गिरे तो कन्या उत्पन्न होती है । जो स्त्री के बाएं कोष में पुरुष के दाहिने कोष से वीर्य गिरे तो स्त्री की चेष्टा वाला लड़का होगा और पुरुष के बाएं अंडकोष से स्त्री के दाहिने कोष में गिरे तो पुत्री किंतु पुरुष की सी इच्छा वाली होगी।

 वैज्ञानिकों का निर्णय

इस विषय पर कोई सर्वमान्य सिद्धांत स्थिर नहीं हो सकता । हाँ बहुत से पाश्चात्य वैज्ञानिकों का ऐसा निर्णय है कि स्पर्मतोज्वा डिंब में प्रविष्ट होने पर अगर वह बलवान हो तो पुत्र होता है और अगर युवा की न्यूक्लियस बलवान हो तो कन्या होती है । आधुनिक विज्ञान अनुसार पुत्र पुत्री होना कुछ प्रकार के क्रोमोसोम के automosis से मिलने के आधार पर है । अगर x और x chromosome का मिलन हो तो लड़की और अगर x और y chromosome का मिलन हो तो लड़का होता है। kaise jane garbh me ladka hai ya ladki

Default image
Lyfcure
We share all the health-related information with everyone on our site. Lyfcure specifically shares important information related to pregnancy, periods and home remedies. Keeping special care of everyone’s life, we deliver information to you, which is absolutely accurate.

Leave a Reply