kan me mavad ka ilaj – कान बहने (मवाद) का 6 इलाज

कान के अंदर कुछ चले जाने के बाद अगर वह कुछ दिनों तक बाहर न निकले तो वह मवाद का रूप ले लेता है। चलिए कुछ उपाय की मदद से kan me mavad ka ilaj जानते हैं।

  1. चमेली के पत्तों का साक्ष्य स्वरस और पावर तेल को मिलाकर आग पर पकाएं रस जलकर तेल मात्र रहने पर उतार कर छान लें । इस तेल को कान में डालने से पूर्ति कर्ण रोग यानी कान से बदबूदार मवाद आना दूर होता है ।
  2. महिला के दूध में रसौत को पीसकर उसमें शहद मिला दे और फिर कान में डालें इस उपाय से बहुत दिनों से बहता हुआ कान और कान में फोड़ा वगैरह फूटने से बदबूदार मवाद का आना दूर होता है । साथ ही साथ यह कान में हो रहे दर्द को भी खत्म करता है l
  3. kan me mavad ka ilaj में बरगद, गूलर, पाकर, पीपल का पेड़ की छाल का चूर्ण, कैथ का रस एवं शहद इन सबको मिलाकर कान में डालने से पूर्ति करने यानी कान से बदबूदार मवाद आना बंद होता है l
  4. एक तोला खैर, बबूल की छाल दो तोला तथा 2 तोला जामुन की छाल को लेकर एक सेर पानी में पकाएं जब आधा सिर पानी बाकी रह जाए उतार कर इसे डाल लें इसके द्वारा कान की पीब, कान में मवाद दूर होता है ।
  5. kan bahane ka ilaj में बरगद, गूलर, पाकर, पीपल का पेड़ की छाल का चूर्ण, कैथ का रस एवं शहद इन सबको मिलाकर कान में डालने से पूर्ति करने यानी कान से बदबूदार मवाद आना बंद होता है l
  6. जामुन और आम के नए पत्ते, कैथ और कपास के ताजा फल इन सभी को समान भाग में लेकर पीस कूटकर इसका रस निचोड़ ले फिर उस रस में शहद मिलाकर कान में डालें । इससे कान का बहना कान में कीड़े पड़ना कान में दर्द आदि दूर होते हैं l

अगर कान का मवाद ठीक नहीं होता है तो तुरंत ही डॉक्टर से जांच करवाएं। अन्यथा सुनने की क्षमता कम हो सकती है।

Default image
Sarthak upadhyay
Sarthak upadhyay is a health blogger and creative writer, who loves to explore various facts, ideas, and aspects of life and pen them down. sarthak is known with English and hindi. Writing is his passion, and enjoys writing on a vast variety of subjects. Relationship, Astrology, and entertainment, Periods, pregnancy, and Home-remedies are his specialty areas.

Leave a Reply