periods nahi aane pr kya kre

समय से पीरियड्स नहीं आने पर क्या करें- periods nahi aane pr kya kre

Posted on

periods nahi aane pr kya kre – महिलाओं के प्रजनन स्वास्थ्य की लड़ी हमेशा पीरियड्स से जुडी रहती है। इसलिए, हर महिला को इस बात का ख़याल रखना कि मासिक धर्म सही समय पर आ रहे हैं या नहीं बहुत ही आवश्यक है। अगर पीरियड्स अनियमित रहते हैं तो किसी भी महिला का गर्भवती हो पाना बहुत ही कठिन होता है और उसे किसी आर्टिफीसियल मेथड का इस्तेमाल कर ही गर्भवती किया जा सकता है। यदि किसी भी महिला का मासिक धर्म नियमित नहीं है तो वह प्राकृतिक रूप से गर्भवती नहीं हो सकती है। आज हम आपको बताएंगे पीरियड्स समय से नहीं आने पर किसी भी महिला को क्या करना चाहिए ।

विषय सूची

periods nahi aane par mahila kya kare

पहले तो आपको यह तय करना है कि आपके पीरियड्स कब से नहीं आ रहे हैं। अगर आपकी उम्र पीरियड्स आने के लायक हो चुकी है और आपके पीरियड्स नहीं आते हैं तो इस परिस्थिति में दूसरा ट्रीटमेंट किया जाता है।

वहीं, अगर आपके पीरियड्स महीने या दो महीने का गैप कर के आते हैं तो इसे दूसरी तरह से ठीक किया जाता है। और अगर आपके पीरियड्स कभी कभी समय पर नहीं आते हैं तो इसकी दूसरी वजह होती है जो आसानी से ठीक के जा सकती है। इसलिए हम तीनों के लिए अगर अलग टिप बताएंगे।

1. अगर आप (प्रौढ़ mature) 14 वर्ष की हो चुकी हैं फिर भी आपके पीरियड्स नहीं आ रहे हैं तो आप 16 वर्ष तक इंतजार कर सकती हैं। दरअसल, कई महिलाओं के शरीर में हार्मोनल परिवर्तन देरी से होता है जिस वजह से ओवरी से अंडे कुछ समय बाद पनपते हैं। इसलिए आप 16 वर्ष तक इंतजार कर सकती हैं।

लेकिन, अगर फिर भी पीरियड्स नहीं आते हैं तो आपको बिना देरी किये किसी अच्छी महिला विशेषज्ञ से जांच करानी चाहिए। आप इंटरनेट या कहीं और से दवा पढ़कर बिलकुल भी इस्तेमाल न करें। अगर आप डॉक्टर से जांच कराने में देरी करती हैं तो हो सकता है आगे चलकर आपको माँ बनने में बड़ी समस्या का सामना करना पड़े।

2. अगर आपके पीरियड्स का कोई समय तय नहीं है (कभी दो महीने के गैप में आना तो कभी तीसरे महीने के गैप में तो कभी एक महीने में ) तो गर्भवती होने में आपको भारी समस्या का पड़ेगा । क्योंकि आपको ओवुलेशन टाइम के बारे में ही नहीं पता होगा। दरअसल, यह समस्या तब होती है जब महिला के शरीर में पीरियड्स लाने (एस्ट्रोजन, प्रोजेस्टेरोन, फॉलिकल स्टिमुलेटिंग हॉर्मोन (FSH), और ल्यूटिनाइजिंग हार्मोन (LH)) प्रभावित होते हैं।

यह हार्मोन ज्यादतर तब प्रभावित होते हैं जब महिला के शरीर में कोई नई बीमारी का जन्म हो जाता है जो महिला हॉर्मोन को बुरी तरह करता है। इसलिए इस कंडीशन पर भी आपको एक जांच करानी चाहिए। क्योंकि, अगर आप खुद से ही टेबलेट इस्तेमाल करती हैं तो इससे आपको नुकसान भी हो सकता है।

3. अगर आपके पीरियड्स हमेशा आते हैं लेकिन, एकाध महीने या इसी महीने सही नहीं आए हैं तो आपको ज्यादा घबराने की जरूरत नहीं है। दरअसल, यह समस्या अकसर आपके लाइफस्टाइल में बदलाव लाने के चलते होती है जैसे- वजन का बढ़ या घट जाना, ज्यादा एक्सरसाइज लेना समय पर खाना नहीं खाना, देर सोना या देर से जागना, कम सोना या अधिक देर तक सोना इत्यादि।

इसलिए ऐसा होने पर आप घरबराए नहीं, बल्कि आप हेमपुष्पा को लगातार 20 से 30 दिन तक पियें। आपके पीरियड्स सही समय पर आने लगेंगे। इसके अलावा हमने पीरियड्स जल्दी आने की टेबलेट के बारे में भी लिखा है जो आपके पीरियड्स को सही करने में आपकी मदद कर सकेंगे।

Gravatar Image
We share all the health-related information with everyone on our site. Lyfcure specifically shares important information related to pregnancy, periods and home remedies. Keeping special care of everyone’s life, we deliver information to you, which is absolutely accurate.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *