पीलिया के 18 रामबाण उपचार- Piliya ka ilaj – jaundice treatment in hindi

Posted on Modified on

पीलिया की समस्या अब आम बात हो चुकी है लेकिन, इसका इलाज आम चीज नहीं है| इसके इलाज में कई तरह के सावधानियों और ट्रीटमेंट का सामना करना पड़ता है| jaundice शरीर में होने वाला एक ऐसा रोग है जिसमे शरीर के हर हिस्से का रंग लाल से बदलकर पीला हो जाता है| पीलिया के 18 रामबाण उपचार- Piliya ka ilaj – jaundice treatment in hindi

धीरे-धीरे body में मौजूद सारा खून पीला हो जाता है और इससे व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है| हालाकि अगर खान-पान में संयम बरता जाए और इलाज किया जाए तो पीलिया का इलाज बहुत आसन है और रोगी एक से २ महीने के भीतर दोबारा से पहले की तरह मोटा-ताजा हो सकता है| तो चलिए आज हम इसके कारण, और इलाज के बारे में जानेंगे|

पीलिया के इलाज के दौरान आपको कुछ सावधानियां बरतनी होगी, जिसे हमने लेख के अंत में बताया है इसलिए लेख पूरा पढ़े|

piliya ka ilaj

पीलिया के कारण-

शराब का सेवन, धूम्रपान करना, जंक फ़ूड खाना, तेल मिर्च मसाले वाले पदार्थों का सेवन करना आदि कई ऐसे कारण है जो आपके किडनी को प्रभावित करते हैं और आपके शरीर में पीलिया के लक्षण सामने लाते हैं| इसलिए इन उत्पाद का सेवन करने से बचे| इसके अलावा भी यह अनुवांशिकी हो सकता है, शरीर में खून की कमी भी इसका कारण हो सकता है, लीवर का कमजोर होना भी इसका कारण है|

जाने-

Piliya ka ilaj – jaundice treatment in hindi

 

 

तोरई का पानी

तोरई के पानी को नाक में डालें और आपके नाक से पीले color का paani निकलेगा| यह तरीका दिन में 1 से 2 दफा इस्तेमाल करें| इससे एक ही दिन में पीलिया आपको छोड़ देगी|

नोट- यह दवा jaundice को एक दिन के भीतर ही समाप्त करने की क्षमता रखती है| यह बहुत ही कठोर औषधि है इसलिए आप इसे 14 वर्ष से नीचे के व्यक्तियों में न उपयोग करें|

गौ मूत्र

piliya ka ilaj: गौ मूत्र हर मर्ज का एक बेहतर उपचार है| पीलिया के उपचार में भी गोमूत्र अपना पूरा योगदान निभाता है| बस गोमूत्र का इस्तेमाल करते समय यह ख़याल रखें कि जो मूत्र आप यूज में लेने वाले हैं वह ऐसे गाय से लिया गया हो जो गर्भवती न हो| अगर, आप गोमूत्र किसी बछड़ी का लेते हैं तो यह और भी लाभदायक होगा|

मक्खन

मक्खन में 10 ग्राम फिटकरी का पाउडर मिलाकर मरीज को सुबह व शाम पिलाने से पीलिया एक सप्ताह के भीतर ही गायब हो जाता है| रोग के समाप्त हो जाने के बाद भी आप इस औषधि को रोगी को 1 माह तक पिलाएं|

जाने-

अरंड के पत्ते

अरंड के ताजे व हरे पत्तों का २ चम्मच रस निकाल लें और इसे मरीज को भोर में और सांझ में एक गिलास दूध के साथ पिलाएं|

प्याज का रस से करें पीलिया का आसान इलाज

piliya ka ilaj: प्याज को बारीक काटकर उसका एक कप रस निकाल लें और उसमे एक नीबू निचोड़ लें और एक चम्मच काला नमक मिलाकर रोगी को पिलाएं| यह इलाज आप तब तक जारी रखें जब तक रोगी पूर्ण तरह से स्वस्थ न हो जाए|

मूली का पत्ता jaundice दूर करने में है कारगर

मूली के हरे पत्ते के रस को रोगी को पिलाने से भी पीलिया का निदान किया जा सकता है| इस दौरान रोगी को मूली का रस पिलाने से उसकी आंत साफ़ होती है और किडनी सही होती है जिससे jaundice के दौरान भूँख न लगाने की समस्या को दूर किया जा सकता है|

गन्ने का जूस

गन्ने का जूस लीवर सम्बन्धी समस्याएँ दूर करने के लिए बेहतर होता है और खून से बिलरूबिन तत्व को बाहर निकालकर पीलिया से निजात दिलाता है|

दूध में लहसुन से दूर होता है पीलिया

लहसुन को कूंचकर उसका पेस्ट बना लें और आधा चम्मच लहसुन का पेस्ट एक गिलास दूध में आधा चम्मच लहसुन का पेस्ट मिलाकर रोगी को दूध पिलाएं|

 

 

चना की भीगी हुई दाल और गुड़

रात में एक कटोरी चने की दाल को पानी में भिगो दें और सुबह उस दाल को एक गुड़ के साथ रोगी के खिलाएँ| इससे पीलिया से जल्द ही आराम मिलेगा|

गाजर और गोभी का रस

piliya ka ilaj: पत्ता गोभी के आधा गिलास रस को गाजर के आधा गिलास रस में मिलाकर रोगी को दिन में तीन से चार बार पिलाने से पीलिया का इलाज संभव है| यह इलाज आप रोगी के पूर्ण स्वस्थ होने तक चलाएं|

नीबू का रस

पीलिया से ग्रसित रोगी के इलाज में नीबू अपना अहम योगदान निभाने में कारगर है| इसके लिए आप रोगी को दिन में २ से ३ नीबू का रस पानी में मिलाकर पिलाएं| औषधि को और कारगर बनाने के खातिर इसके 1 चम्मच कला नमक भी जोड़ दें|

यह उपाय किडनी को स्वस्थ करता है और शरीर को jaundice से बचाता है|

पीसी हुई सोंठ का इस्तेमाल करें

एक गिलास ठन्डे पानी में एक चम्मच पीसी हुई सोंठ और 10 ग्राम गुड़ मिलाकर पीने से पीलिया ठीक होता है|

आंवला का रस

piliya ka ilaj: आधे गिलास आमले का रस रोगी को सुबह, दोपहर और सांझ को पिलाने से पीलिया नष्ट हो जाती है| आमले के रस में एक चम्मच शहद मिलाकर पीना चाहिए|

इमली और काला नामक से पीलिया का इलाज

रात में पकी हुई इमली को पानी में भिगोकर रख दें और सुबह होने पर इमली को सिलवटे में पीसकर पानी के साथ उसका सरबत बना लें| शरबत में एक चम्मच काला नमक और एक चम्मच सोंठ जोड़ें| अब, इस शर्बत को रोगी को दिन में 4-5 बीआर पिलाने से कुछ ही दिनों में पीलिया पूर्ण रूप से चली जाएगी|

नीम के पत्ते से करें पेचिस का इलाज

Pechis ka ilaj के लिए नेम के पत्तों का एक चम्मच रस रोगी को पिलाने से आराम मिलता है| रोगी को रसपान दिन मे २ बार पिलाएं|

फिटकरी करता है पीलिया ka शानदार ilaj

फिटकरी को भूनकर उसका चूर्ण बना लें और रोगी को एक चम्मच चूर्ण एक गिलास पनी के साथ सुबह और शाम पिलाएं इससे भी पीलिया दूर हो जाता है|

जौ का पानी

piliya ka ilaj: पीलिया के दौरान जौ का पानी उपयोग में लाने से jaundice को ठीक करना आसान है| जौ का पानी बनाने के लिए जौ को पानी में भिगो दें और सुबह होने पर जौ को नए पानी में डालकर जौ को अच्छी तरह से उबाल लें जब पानी का रंग पूरी तरह से बदल जाए तो पानी को छान लें और पानी ठंडा हो जाने पर पी लें| ‘पीलिया के 18 रामबाण उपचार- Piliya ka ilaj – jaundice treatment in hindi’

 

 

गिलोय दूर करता है पीलिया

रात में सोते समय गिलोय की लता कंठ में लपेटे रहे और सुबह हटा दें| इससे भी पीलिया का नाश संभव है| इस तरीके को तब तक आजमाएं जब तक आप इस गंभीर हालात से बाहर नहीं आ जाते हैं|

टमाटर का रस दूर करता है पीलिया रोग को

टमाटर में कुछ इसे घटक मौजूद होते हैं जो jaundice को खतम कर सकते | टमाटर से Piliya ka ilaj के लिए आप टमाटर को ग्राइंड कर लें और उसके एक गिलास जूस में 1 चम्मच काला नमक पाउडर मिलाकर रोगी को पिलाएं| यह उपचार दिन में तीन से चार बार करें और जब रोगी पूर्ण र्रूप से स्वस्थ हो जाए तो उसके बाद २ महीने तक टमाटर के इस मिश्रण को उसे पिलाएं|

पीलिया के इलाज के लिए उपयोग में लाएं ये दवाएँ- पीलिया के लिए दवा

नोट- इन दवाइयों का इस्तेमाल करने के लिए पहले एक बार डॉक्टर से जरूर बात करें|

  • Udiliv-300 

Udiliv-300 को jaundice के समय एक-एक खुराक सुबह और शाम खाएं|

  • Pantop HP

इसे भी आपको सुबह और शाम को दूध के साथ लेना चाहिए|

  • atoz tablet

पीलिया के इलाज के लिए atoz tablet  को भी उपयोग में लाया जा सकता है|

  • ursocol 300

jaundice के लिए दवाई में ursocol 300 एक बेहतर टेबलेट है|

  • Nexpro RD 40

यह jaundice का इलाज करने के लिए बहुत ही बेहतर टेबलेट है|

 

 

पीलिया के दौरान सावधानी:

इस रोग में आपको खान-पान में सावधानी बरतनी चाहिए| इसके लिए आप नीचे देखें कि पीलिया के दौरान क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए?

पीलिया के दौरान क्या न खाएँ-

  • इस रोग में अप किसी भी खाद्य पदार्थ का सेवन न करें जो आपके लीवर को दूषित करें|
  • तेलयुक्त पदार्थ, मिर्च-मसाले से भरे भोजन आदि का सेवन करना वर्जित है|
  • हल्का आहार लें जो आसानी से पाच सके और लीवर को ज्यादा कार्य न करना पड़े|
  • फैट से भरे खाद्य पदार्थ नहीं खाना चाहिए|
  • माँस, मीट मछलियाँ और भी कई मांसाहारी पदार्थों का सेवन इस दौरान वर्जित है|
  • शराब एक जहर है, पीलिया के ओग को और तेज कर सकता है|
  • नमक, खट्टे पदार्थ( आचार आदि) का स्वान नहीं करना चाहिए|
  • कैफीन से भरे उत्पाद (चाय, कॉफ़ी) न खाएं|
  • बासी आहार न लें|
  • Jaundice में पानी पूर्ण रूप से स्वच्छ हो|
  • पीलिया रोग में रोगी के साफ़-सफाई का पूरा ख़याल रखना चाहिए|
  • Jaundice में dairy product का सेवन वर्जित है|
  • फास्ट फूड का पूर्ण रूप से त्याग करना उचित रहेगा|
  • पान, गुटखा का सेवन वर्जित है|

 पीलिया के दौरान क्या खाएं-

  • पीलिया में आप उस खाद्य पदार्थ का सेवन करें जो आसानी से पच सके|
  • आप उस खाद्य पदार्थ का सेवन करें जो प्रोटीन से भरे हो|
  • पीलिया के दौरान किडनी को स्वस्थ करने के लिए पानी का भरपूर मात्रा में सेवन करें|
  • आम और खट्टे फलों के अलावा आप jaundice में हर तरह के फलों को उपयोग में ला सकते हैं|
  • हरे औए ताजे फलों के रस को पीना चाहिए|
  • उबले पानी का सेवन करना बेहतर रहेगा|” पीलिया के 18 रामबाण उपचार- Piliya ka ilaj – jaundice treatment in hindi:”

नीचे दिए गए लेख भी पढ़ें

दांत दर्द का 12 इलाज, निदान, दवाइयाँ और कारण || da... दांतों का दर्द एक आम दर्द हो गया है | जिससे आजकल हर व्यक्ति परेशान है  | यह दर्द बहुत भयानक होता है | यह दर्द इतना खतरनाक होता है कि लोग भोजन भी अच्...
कब्ज का इलाज, दवा और कारण| kabj ka ilaj kare in up... kabj ka ilaj aur gharelu upaay कब्ज तब होता है जब आपके आँतों में मौजूद फिल्टर्ड आहार किसी कारण वश आंत में ही रह जाता है और वह पेट से बाहर जा पाने मे...
पसीने और शरीर की बदबू दूर करने के बेहतर उपाय | pas... बदबू का कारण, पसीने की बदबू का घरेलु इलाज, पसीना और बदबू कम करने के लिए खाद्य पदार्थ, बदबू के लिए परफ्यूम के बारे में बताया गया है | ये सभी टॉपिक आपको...
काली खाँसी का 20 घरेलू इलाज व उपाय, दवाईयाँ, प्रका... कुक्कुर खांसी को काली खांसी अथवा अंग्रेजी में हूपिंग कफ (whooping cough) कहा जाता है | यह सामान्य खांसी से भिन्न होती है | यह खांसी अधिकतर 10 वर्ष की ...
सर्दी के चलते नाक में जलन क इलाज| nak me jalan ka ... सर्दी के समय सर्दी से होने वाले नाक में जलन पूरा चैन ले लेती है| यह कई कारणों से हो सकती है| अक्सर सर्दियों में नाक को बार-बार साफ़ करने से जलन उत्प...
सिर दर्द का इलाज,50 उपाय,दवाइयाँ,योगासन सावधानियाँ...   सिर दर्द का इलाज  'or' sar dard ka ilaj सिर में कांटे जैसी चुभन को शिरोरोग कहते हैं अथवा सिरदर्द कहा जाता है चलिए इसके सावधानी, दवाइयाँ औ...
दस्त का इलाज आसान घरेलू देशी उपचार | to stop loose... loose motion home remedy in hindi गरिष्ठ, चिकने, सूखे, मसाले वाले, ठंडे पदार्थों के खाने पीने, मद्यपान, स्वभाव एवं धात की विपरीत आहार को ग्रहण करने एव...
sir me bharipan kaise door kare| सिर में भारीपन का... गलत तरीके से lifestyle का माहौल बनाने से सिर में भारीपन की समस्या हो जाती है| और भी कई कारण है जो sir me bharipan की वजह बनते हैं| तो चलिए उन कारणों औ...
lambai kaise badhaye | लम्बाई कैसे बढाएं | हाइट बढ़... lambai kaise badhaye छोटे काठी के लोग सोचते हैं कि लम्बे कब होगे| personality के लिए लम्बाई आवश्यक होती है| height badhane ke upay लम्बाई के बिना अच्...
माइग्रेन का इलाज, लक्षण,दवा | आधे सिर दर्द का इलाज...   माइग्रेन क्या है?- migraine in hindi माइग्रेन को आधे सिर दर्द के नाम से भी जाना जाता है| इसमें आपके सिर के आधे हिस्से में दर्द होता है, च...
चुन्ना का इलाज, घरेलू उपचार कारण और लक्षण| chunna ... पेट के कीड़े बहुत से बच्चों के मल (टट्टी) के साथ छोटे-छोटे सफेद कीड़े निकलते हैं इसे चुन्ना कहते हैं।  इसकी लंबाई चौथाई से लेकर आधे इंच तक होती है। जब ...
घुटनों का दर्द के 22 आसान इलाज- ghutno ke dard ka... जैसे-जैसे उम्र बढती जाती है, महिला हो या पुरुष दोनों के हे जोड़ों और घुटनों का दर्द शुरू हो जाता है| यह दर्द बहुत भयानक होता है जिससे पीड़ा सहन करना प...

5 thoughts on “पीलिया के 18 रामबाण उपचार- Piliya ka ilaj – jaundice treatment in hindi

    1. Sir mera 37.4 bilirubin badh gya hai mera piliya bahut tej hai mai kya karu Sir mera galblader defuse hai Sir koi upay btaye

      1. आप सिर्फ और सिर्फ अच्छे डॉक्टरका सहारा इ लीजिये| बिलकुल भी देरी न करें| यह आपके जान पर हावी हो सकता है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *