प्रेगनेंसी में क्या खाएं pregnancy me kya khaye aur kya nahi khana chahie

प्रेगनेंसी में क्या खाएं और क्या नहीं खाना चाहिए- पूरी डाइट चार्ट

Posted on

गर्भावस्था के दौरान माँ का अपने लिए तय किया गया आहार यह निश्चित करता है की बच्चा के पैदा होने के बाद उसका स्वास्थ्य कैसा रहेगा? बच्चे के स्वास्थ्य और उसके शरीर के हर अंग के सम्पूर्ण विकास के लिए गर्भावस्था के दौरान अपने आहार पर विशेष ध्यान देना बहुत आवश्यक है।

हर गर्भवती महिला को भ्रूण के पूर्ण विकास के लिए और बेहतर डेलिवरी के लिए कुछ ऐसे आहार को चयन करने की आवश्यकता होती है जो उसके और उसके बच्चे को हर तरह का पोषक तत्व आसानी से दे सके।

प्रेगनेंट महिलाओं डीलिवरी के दौरान कोई भी तरह की समस्या न हो इसलिए प्रेगनेंसी के दौरान क्या खाएंँ और क्या न खाएंँ अत्यंत विचारणीय है। बच्चे के जन्म होने के बाद उसका मानसिक और शारीरिक विकास प्रेगनेंसी के दौरान खाएं गए आहार पर ही निर्भर होता है।

प्रेगनेंसी में क्या खाएंं और क्या खाना चाहिए

अगर प्रेग्नेंट महिला नेचे दिए गए खाद्य पदार्थों को खाती है तो इससे उसका और उसके शिशु का विशाल निर्माण से कोई नहीं रोक सकता है।

  1. गर्भावस्था के तीन माह बाद शिशु का विकास होना शुरू हो जाता है। इस दौरान भ्रूण निर्माण के लिए माँ के शरीर को कैल्शियम और प्रोटीन से समृद्धि खाद्य पदार्थों की अत्यंत आवश्यकता होती है। अगर गर्भवती  महिला अपने आहार में डेयरी प्रोडक्ट्स को शामिल करती है तो इससे भ्रूण को पर्याप्त मात्रा में कैल्सियम और प्रोटीन की प्राप्ति हो सकती है। इसलिए चाहिए की प्रेग्नेंट लेडी इस दौरान सुबह और शाम आधा लीटर दूध का सेवन करे और अपने खाने में पनीर, दही आदि कई डेयरी उत्पाद शामिल करे।
  2. बीन्स जैसे बादाम, छुहारा, खजूर आदि (फलियों) में कई पोषक तत्व एक साथ पाए जाते हैं जिसे गर्भवती महिला को खाना चाहिए। दरअसल, अगर इन खाद्य पदार्थों का सेवन करने से पीट में पल रहे बच्चे को प्रोटीन, फाइबर, आयरन और folic एसिड की पर्याप्त मात्रा मिल जाती है। ये सभी पोषक तत्व विशेष रूप से दिमागी विकास के लिए बेहतर माने जाते हैं। गर प्रेग्नेंट महिला प्रेगनेंसी में फलियाँ खाती है तो यह उसके और उसके बच्चे के लिए बेहतर होगा। यह कमजोरी दूर करने में भी लाभदायक है।
  3. शरीर में हर पार्ट्स में पोषक तत्व पहुंचाने का कार्य पानी करता है। इसलिए पानी भरपूर मात्रा में पियें। ऐसा करने से भ्रूण निर्माण के दौरान हर पार्ट्स में पोषक तत्व का प्रवाह सही ढंग से होगा, जो बेबी को हर तरह की डाइट को पूरा करने में मददगार है।
  4. गर्भवती महिला को pregnancy के समय अपने जरूरी आहार में अंडे को शामिल करना नहीं भूलना चाहिए। अंडे में कई तरह के पोषक तत्व पाए जाते हिन् जो गर्भवती महिला को और उसके बच्चे को हर तरह से स्वास्थ्य लाभ प्रदान करते हैं।
  5. हरी पत्तेदार सब्जियों में ब्रोकली, पात गोभी, हरी भाजी, भिन्डी, पालक, लाल साग आदि शामिल कर प्रेगनंट महिला अपने और अपने बच्चे को पर्याप्त मात्रा में आयरन दे सकती है जो भ्रूण और माँ दोनों के लिए बेहतर होगा।
  6. मछली में omega -3 fatty acid की भार्पूर्र मात्रा पाई जाती है। यह हृदय की रक्षा करने सूए बाद कोलेस्ट्रॉल से pregnancy में महिला और बचे दोनों को सुरक्षित रखती है। इसलिए भ्रूण के हृदय विकास के लिए इसका सेवन करना बहुत अच्छा रहेगा।
  7. फलों में गर्भवती महिला को संतरे, सेब, आनार और केले का सेवन करना सही रहेगा। प्रेगनेंसी के दौरान संतरे ज्यादा खाएंँ, इससे महिला और बच्चे के आँखों की रौशनी का विकास तेजी से होगा।
  8. गर्भवती महिला अपने आहार में आयोडीन को शामिल करना कतइ भी न भूलें। अगर आप आयोडीन का इस्तेमाल नहीं करती हैं तो इससे बच्चे में मानसिक समस्याएं हो सकती है। इसक लिए महिला आयोडीन नमक का भी उपयोग कर सकती है।
  9. प्रोटीन का स्त्रोत भी प्रेगनेंसी की डाइट में शामिल होना चाहिए। प्रोटीन से भरपूर सामान का सेवन करने से बेहतर है आप अपने घर में पनीर, और भीगे हुए चने का सेवन करें।
  10. अगर गर्भावस्था के दौरान बंदगोभी का सेवन महिलाऐं करती हैं तो बच्चे में कैंसर से लड़ने के प्रति क्षमता विकसित होती है।
  11. इस दौरान अगर महिला सेब का सेवन करती है तो यह उसके स्वास्थ्य के लिए और भी बेहतर होगा।

नोट-  pregnant (गर्भवती) महिला जो भी खाती है उसका उसका 50 परसेंट शेयरिंग पेट में पल रहे बच्चे से होती है जिसका पूरा असर बच्चे के अंगों और उसके मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ता है इसलिए कुछ भी बाहरी फ़ूड या गोली दवाई खाने से पहले एक बार डॉक्टर से परामर्श लेना अत्यंत आवश्यक होता है।

प्रेगनेंसी में क्या नहीं खाएं और क्या नहीं खाना चाहिए

  1. ध्यान दें की खाना पूरी तरह से पका हो। अगर आप अधपका भोजन का सेवन करेंगे तो उसमे उपस्थिति  बैक्टीरिया आपके शिशु और आपके सेहत को नुकसान पहुँचाएँगे।
  2. सागरीय खाद्य पदार्थ अपने साथ मरकरी की भारी मात्रा समेटे रहता है। अगर माँ प्रेगनेंसी में समुद्री खाने का स्वान करती है तो इससे बच्चे के दिमागी सेहत पर बुरा असर होगा। मरकरी की ज्यादा मात्रा बच्चे के याददास्त को भी कमजोर कर सकती है।
  3. शराब, नशा-पत्ती, सिगरेट और भी कई ड्रग्स आदि का सेवन करने पर बच्चे के स्वास्थ्य पर खतरनाक असर होता है। इसलिए प्रेगनेंसी में इन विषैले पदार्थों का सेवन करने से बचाना चाहिए। अगर आप प्रेगनेंसी के दौरान अल्कोहल का सेवन करती हैं तो यह आपके गर्भपात का कारण हो सकता है।
  4. उन पेय का सेवन बिलकुल भी न करें जिनमे कैफीन की मात्रा पाई जाती हो। विशेष रूप से गर्भावस्था के दौरान चाय और काफी जैसी कैफीनयुक्त पेय का उपयोग करना ,मना  है।
  5. फल का सेवन करने से गर्भपात की समस्या हो सकती है और यह बच्चे के स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकता है। इसलिए पपीता जैसे फल का सेवन करना वर्जित है।
  6. ताजे फल, और भी कोई खाद्य पदार्थ का सेवन प्रेग्नेंट वीमेन धोकर ही करे। अगर बिना धोये खाती है तो वातावरण के कई तरह के दूषित जीवाणु और रोगाणु बच्चे तक पहुँच जाएंगे जो भ्रूण के विकास में बाधा डालेंगे।
  7. कच्चा अंडा का सेवन करना भी नुकसानदेय हो सकता है।
  8. प्रेगनेंसी के दौरान किसी भी दवाइयों आदि का सेवन करने से पहले एक बार डॉक्टर से परामर्श लेना अत्यंत आवश्यक होता है। अगर ऐसा नहीं करते हैं तो गर्भावस्था के दौरान किसी भी तरह का गलत खाद्य पदार्थ का सेवन आपके भ्रूण के सेहत के लिए एक भारी समस्या हो सकता है।
  9.  तीखे और गर्म पदार्थ का सेवन करने से गर्भवती महिला को बचना चाहिए।

प्रेगनेंसी के समय बरते ये सावधानियां:

  • इस दौरान भूंखे रहना या व्रत रहने से पेट में पल रहा बच्चा कमजोर पड़ सकता है।
  • शरीर में toxins को न रहने दें, इसके लिए आप अपने पाई का भरपूर सेवान करें।
  • खाना समय-समय पर खाएंँ।
  • शुरूआती दिनों में हर माह और नौवे माह में हर सप्ताह डॉक्टर को दिखने अवश्य जाएं।
  • प्रेगनेंसी में किसी भी दवाई का सेवन डॉक्टर के सुझाव के बाद ही करें।
Gravatar Image
Lyfcure specifically shares important information related to pregnancy, periods and home remedies. Lyfcure has introduced a lot of pregnancy and health related information to the whole people in 2018 who belongs to india and reads hindi. we are mot popular in India as a health consultant.

2 thoughts on “प्रेगनेंसी में क्या खाएं और क्या नहीं खाना चाहिए- पूरी डाइट चार्ट

    1. आप इस क्वेश्चन को हमारे स्वास्थ्य फोरम या खाँसी का इलाज नामक लेख में पूँछें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *