प्रेगनेंसी में क्या खाए और क्या नहीं खाना चाहिए- pregnancy me kya khaye ka diet chart

Posted on

Pregnancy me kya khaye– गर्भावस्था के दौरान माँ का अपने लिए तय किया गया आहार यह निश्चित करता है की बच्चा के पैदा होने के बाद उसका स्वास्थ्य कैसा रहेगा? बच्चे के स्वास्थ्य और उसके शरीर के हर अंग के सम्पूर्ण विकास के लिए गर्भावस्था के दौरान अपने आहार पर विशेष ध्यान देना बहुत आवश्यक है| हर गर्भवती महिला को भ्रूण के पूर्ण विकास के लिए और बेहतर डेलिवरी के लिए कुछ ऐसे आहार को चयन करने की आवश्यकता होती है जो उसके और उसके बच्चे को हर तरह का पोषक तत्व आसानी से दे सके| प्रेगनेंट महिलाओं डीलिवरी के दौरान कोई भी तरह की समस्या न हो इसलिए प्रेगनेंसी के दौरान क्या खाएँ और क्या न खाएँ अत्यंत विचारणीय है| बच्चे के जन्म होने के बाद उसका मानसिक और शारीरिक विकास प्रेगनेंसी के दौरान खाए गए आहार पर ही निर्भर होता है| foods to eat during pregnancy in hindi.

नोट-  pregnant (गर्भवती) महिला जो भी खाती है उसका उसका 50 परसेंट शेयरिंग पेट में पल रहे बच्चे से होती है जिसका पूरा असर बच्चे के अंगों और उसके मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ता है इसलिए कुछ भी बाहरी फ़ूड या गोली दवाई खाने से पहले एक बार डॉक्टर से परामर्श लेना अत्यंत आवश्यक होता है| प्रेगनेंसी में प्रेग्नंट महिला क्या खाए और क्या नहीं खाए- pregnancy me kya khaye ka diet chart

प्रेगनेंसी में क्या खाएँ का उत्तर- pregnancy me kya khaye

अगर प्रेग्नेंट महिला नेचे दिए गए खाद्य पदार्थों को खाती है तो इससे उसका और उसके शिशु का विशाल निर्माण से कोई नहीं रोक सकता है|

pregnancy me kya khaye

  1. गर्भावस्था के तीन माह बाद शिशु का विकास होना शुरू हो जाता है| इस दौरान भ्रूण निर्माण के लिए माँ के शरीर को कैल्शियम और प्रोटीन से समृद्धि खाद्य पदार्थों की अत्यंत आवश्यकता होती है| अगर गर्भवती  महिला अपने आहार में डेयरी प्रोडक्ट्स को शामिल करती है तो इससे भ्रूण को पर्याप्त मात्रा में कैल्सियम और प्रोटीन की प्राप्ति हो सकती है| इसलिए चाहिए की pregnant lady इस दौरान सुबह और शाम आधा लीटर दूध का सेवन करे और अपने खाने में पनीर, दही आदि कई डेयरी उत्पाद शामिल करे|
  2. बीन्स जैसे बादाम, छुहारा, खजूर आदि (फलियों) में कई पोषक तत्व एक साथ पाए जाते हैं जिसे गर्भवती महिला को खाना चाहिए| दरअसल, अगर इन खाद्य पदार्थों का सेवन करने से पीट में पल रहे बच्चे को प्रोटीन, फाइबर, आयरन और folic एसिड की पर्याप्त मात्रा मिल जाती है| ये सभी पोषक तत्व विशेष रूप से दिमागी विकास के लिए बेहतर माने जाते हैं| गर प्रेग्नेंट महिला प्रेगनेंसी में फलियाँ खाती है तो यह उसके और उसके बच्चे के लिए बेहतर होगा| यह कमजोरी दूर करने में भी लाभदायक है| ‘प्रेगनेंसी में प्रेग्नंट महिला क्या खाए और क्या नहीं खाए- pregnancy me kya khaye ka diet chart’
  3. शरीर में हर पार्ट्स में पोषक तत्व पहुंचाने का कार्य पानी करता है| इसलिए पानी भरपूर मात्रा में पियें| ऐसा करने से भ्रूण निर्माण के दौरान हर पार्ट्स में पोषक तत्व का प्रवाह सही ढंग से होगा, जो बेबी को हर तरह की डाइट को पूरा करने में मददगार है|
  4. गर्भवती महिला को pregnancy के समय अपने जरूरी आहार में अंडे को शामिल करना नहीं भूलना चाहिए| अंडे में कई तरह के पोषक तत्व पाए जाते हिन् जो गर्भवती महिला को और उसके बच्चे को हर तरह से स्वास्थ्य लाभ प्रदान करते हैं| हमने पहले के एक लेख में भी इसका फायदा बता दिया है पढने के लिए क्लिक करें- pregnancy में अंडे खाने के फायदे
  5. हरी पत्तेदार सब्जियों में ब्रोकली, पात गोभी, हरी भाजी, भिन्डी, पालक, लाल साग आदि शामिल कर प्रेगनंट महिला अपने और अपने बच्चे को पर्याप्त मात्रा में आयरन दे सकती है जो भ्रूण और माँ दोनों के लिए बेहतर होगा|
  6. मछली में omega -3 fatty acid की भार्पूर्र मात्रा पाई जाती है| यह हृदय की रक्षा करने सूए बाद कोलेस्ट्रॉल से pregnancy में महिला और बचे दोनों को सुरक्षित रखती है| इसलिए भ्रूण के हृदय विकास के लिए इसका Pregnancy me ise khana बहुत अच्छा रहेगा|
  7. फलों में गर्भवती महिला को संतरे, सेब, आनार और केले का सेवन करना सही रहेगा| प्रेगनेंसी के दौरान संतरे ज्यादा खाएँ, इससे महिला और बच्चे के आँखों की रौशनी का विकास तेजी से होगा|
  8. गर्भवती महिला अपने आहार में आयोडीन को शामिल करना कतइ भी न भूलें| अगर आप आयोडीन का इस्तेमाल नहीं करती हैं तो इससे बच्चे में मानसिक समस्याएं हो सकती है| इसक लिए महिला आयोडीन नमक का भी उपयोग कर सकती है|
  9. Pregnancy me kya khaye- प्रोटीन का स्त्रोत भी प्रेगनेंसी की डाइट में शामिल होना चाहिए| प्रोटीन से भरपूर सामान का सेवन करने से बेहतर है आप अपने घर में पनीर, और भीगे हुए चने का सेवन करें|
  10. अगर गर्भावस्था के दौरान बंदगोभी का सेवन महिलाऐं करती हैं तो बच्चे में कैंसर से लड़ने के प्रति क्षमता विकसित होती है|
  11. इस दौरान अगर महिला सेब का सेवन करती है तो यह उसके स्वास्थ्य के लिए और भी बेहतर होगा|

प्रेगनेंसी में क्या नहीं खाना चहिये- pregnancy me kya nahi khana chahiye

  1. ध्यान दें की खाना पूरी तरह से पका हो| अगर आप अधपका भोजन का सेवन करेंगे तो उसमे उपस्थिति  बैक्टीरिया आपके शिशु और आपके सेहत को नुकसान पहुँचाएँगे|
  2. सागरीय खाद्य पदार्थ अपने साथ मरकरी की भारी मात्रा समेटे रहता है| अगर माँ प्रेगनेंसी में समुद्री खाने का स्वान करती है तो इससे बच्चे के दिमागी सेहत पर बुरा असर होगा| मरकरी की ज्यादा मात्रा बच्चे के याददास्त को भी कमजोर कर सकती है|
  3. शराब, नशा-पत्ती, सिगरेट और भी कई ड्रग्स आदि का सेवन करने पर बच्चे के स्वास्थ्य पर खतरनाक असर होता है| इसलिए प्रेगनेंसी में इन विषैले पदार्थों का सेवन करने से बचाना चाहिए| अगर आप प्रेगनेंसी के दौरान अल्कोहल का सेवन करती हैं तो यह आपके गर्भपात का कारण हो सकता है|
  4. उन पेय का सेवन बिलकुल भी न करें जिनमे कैफीन की मात्रा पाई जाती हो| विशेष रूप से गर्भावस्था के दौरान चाय और काफी जैसी कैफीनयुक्त पेय का उपयोग करना ,मना  है|
  5. फल का सेवन करने से गर्भपात की समस्या हो सकती है और यह बच्चे के स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा सकता है| इसलिए पपीता जैसे फल का सेवन करना वर्जित है|
  6. ताजे फल, और भी कोई खाद्य पदार्थ का सेवन pregnant women धोकर हे करे| अगर बिना धोये खाती है तो वातावरण के कई तरह के दूषित जीवाणु और रोगाणु बच्चे तक पहुँच जाएंगे जो भ्रूण के विकास में बाधा डालेंगे|
  7. कच्चा अंडा का सेवन करना भी नुकसानदेय हो सकता है|
  8. प्रेगनेंसी के दौरान किसी भी दवाइयों आदि का सेवन करने से पहले एक बार डॉक्टर से परामर्श लेना अत्यंत आवश्यक होता है| अगर ऐसा नहीं करते हैं तो गर्भवस्था के दौरान किसी भी तरह का गलत खाद्य पदार्थ का सेवन आपके भ्रूण के सेहत के लिए एक भारी समस्या हो सकता है| “प्रेगनेंसी में प्रेग्नंट महिला क्या खाए और क्या नहीं खाए- pregnancy me kya khaye ka diet chart”
  9.  तीखे और गरम पदार्थ का सेवन करने से गर्भवती महिला को बचना चाहिए|

Pregnancy diet tips in hindi: 

प्रेगनेंसी में क्या खाएँ का उत्तर- pregnancy me kya khaye

  • इस दौरान भूंखे रहना या व्रत रहने से पेट में पल रहा बच्चा कमजोर पड़ सकता है|
  • शरीर में toxins को न रहने दें, इसके लिए आप अपने पाई का भरपूर सेवान करें|
  • खाना समय-समय पर खाएँ|
  • शुरूआती दिनों में हर माह और नौवे माह में हर सप्ताह डॉक्टर को दिखने अवश्य जाएं|
  • प्रेगनेंसी में किसी भी दवाई का सेवन डॉक्टर के सुझाव के बाद ही करें| Pregnancy me kya khaye में इसका ध्यान रखना अत्यंत आवश्यक है|

प्लीज हमारे facebook पेज को लाइक कीजिये!!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 thoughts on “प्रेगनेंसी में क्या खाए और क्या नहीं खाना चाहिए- pregnancy me kya khaye ka diet chart

    1. आप इस क्वेश्चन को हमारे स्वास्थ्य फोरम या खाँसी का इलाज नामक लेख में पूँछें।