pregnancy me ulti aane ka ilaj vomiting in pregnancy

प्रेगनेंसी में उल्टी आने का इलाज, कारण और बचाव के 10 उपाय

Posted on

अगर आप हमसे फेसबुक में बात कर के सीधा जवाब पाना चाहते हैं तो नीचे दी गई contact us बटन पर क्लिक करें!

गर्भावस्था के दौरान कई मुश्किलें सहन करनी पड़ती हैं और चीजें इतनी आसन नहीं होती जितना लोग सोचते हैं। उल्टी भी कुछ ऐसी ही प्रक्रियाओं में से एक है। गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को बहुत बार उल्टी आती है लेकिन, इसके भी अपने अलग-अलग पहलू हैं। अचानक से सुबह उठते ही उल्टी शुरू हो जाना आपके मूड को बिगाड़ कर रख देती है। गर्भावस्था में उल्टी एक आम समस्या है लेकिन, बिना किसी उपाय को आजमाए बिना इससे छुटकारा पाना आसन नहीं। उल्टी आने के बाद जाहिर है की आप बुरा ही महसूस करती होंगी। खाने के स्वाद का सारा अंदाज भी उल्टी बदलकर रख देती है। गर्भावस्था के दौरान आने वाली उल्टी जटिल होती है जो एक तरह से प्राकृतिक है। मतलब प्रेगनेंसी के दौरान खान-पान में थोड़ी सी भी बदलाव उल्टी की समस्या उत्पन्न कर सकता है। गर्भवती महिलाएं जब उल्टी आने जैसा महसूस कर रही हों, तो हम कुछ ऐसे घरेलु उपाय बताएँगे जो गर्भावस्था के दौरान आ रही उल्टी को पल भर में रोक देंगे। उल्टी के ये इलाज किसी अंग्रेजी दवाई से अधिक लाभदायक हैं।

क्या है गर्भावस्था के दौरान उल्टी आने का कारण

गर्भावस्था के दौरान आ रही उल्टी के कई सारे कारण हो सकते हैं। गर्भावस्था में हमारे हर्मोनेस मे कई तरह के बदलाव होते हैं और यह बदलाव वोमिटिंग उत्पन्न करने वाले ग्रन्थ को भी प्रभावित करती है। यह ग्रंथि हमारे भोजन ग्रंथि से भी जुडी हुई होती है। इसलिए गर्भावस्था में खान-पान का बेहद ख्याल रखना होता है। हालाकि, अब तक गर्भावस्था के दौरान उल्टी का कोई सटीक कारण पता नहीं लग पाया है। आमतौर पर गर्भावस्था के दौरान उल्टी आने के निम्नलिखित कारण हो सकते हैं।

मानव कोरियोनिक गोनाडोट्रॉफ़िन (एचसीजी) और एस्ट्रोजन लेवल में वृद्धि

मानव कोरियोनिक गोनाडोट्रॉफ़िन अगर महिला के शरीर में ज्यादा मात्रा में पाया जाता है तो इससे प्रेगनेंसी के दौरान वोमिटिंग होने लगती है। इसे (एचसीजी) के नाम से भी जाना जाता है। हम इसे एक तरह का बदलाव कह सकते हैं जो केवल प्रेगनेंसी के दौरान ही उत्पन्न होता है। गर्भावस्था के दौरान उल्टी का एस्ट्रोजन लेवल में वृद्धि भी एक मुख्य कारण है। यह एक तरह का हार्मोन है जिसके बढ़ने पर हमें उल्टी जैसा महसूस होता है। इस हार्मोन की अधिकतर वृद्धि गर्भावस्था के दौरान ही देखने को मिलती है।

गर्भावस्था के दौरान आ रही उल्टी के कुछ और कारण

  • गंध को लेकर आपकी सोच
  • आपके पेट की संवेदनशीलता
  • बढ़ा हुआ तनाव
  • दूसरी बार गर्भावस्था का अनुभव
  • अगर आप मोशन सिकनेस की समस्या से जूझती हैं तो यह भी प्रेगनेंसी के दौरान वोमिटिंग उत्पन्न कर सकता है।
  • प्रेगनेंसी के दौरान आपके परिवार का इतिहास (गर्भावस्था के दौरान उल्टी परिवारक समस्या भी हो सकती है)
  • माइग्रेन या फिर सर दर्द की समस्या भी वोमिटिंग ला सकती है

गर्भावस्था के दौरान उल्टी के घरेलु उपाय/इलाज

गर्भावस्था के दौरान हो रही वोमिटिंग को तुरंत खत्म करने के लिए नीचे कुछ उपाय बताये गए हैं जिन्हें आपको आजमाना चाहिए।

दालचीनी से करें प्रेगनेंसी की उल्टी दूर

दालचीनी प्रेगनेंसी के दौरान आने वाली वोमिटिंग को आसानी से दूर कर सकती है। प्रेगनेंसी में
उल्टी के इलाज के लिए सबसे पहले दालचीनी की लकड़ियों को पानी में कुछ देर तक उबालें। उबल जाने के बाद इसे ठंडा होने दें। ठंडा हो जाने पर इसमें शहद मिलाएं और पी जाएँ। यह उल्टी का बहुत आसन और कारगार इलाज है। आप इसे दालचीनी की चाय भी कह सकते हैं जो वास्तव में लाभकारी होती है, खासकर तब जब आप प्रेग्नेंट हों। यकीन कीजिये, इसका स्वाद भी गजब का होता है जिससे आधी उलटी सूंघने मात्र से दूर हो जाती है।

संतरा दिलाएगा उल्टी से छुटकारा

संतरे की मदद से आप उल्टी को आसानी से दूर कर सकती हैं। वोमिटिंग से छुटकारा पाने के लिए संतरे का दो तरह से इस्तेमाल किया जा सकता है।सबसे पहले संतरे के सूखे हुए छिलके को एक मिनट तक चूसें ।और दुसरे उपाय के लिए आपको ज्यादा कुछ नहीं बस संतरे का एक गिलास जूस पीना है। जूस तजा होना चाहिए क्यूंकि, यह एक गर्भवती महिला के पेट में जाने वाला है। ऐसा करते ही, आपको उल्टी न आने जैसा महसूस होगा वोमिटिंग का इलाज हो जायेगा।

अदरक से करें प्रेगनेंसी की उल्टी दूर

अदरक उल्टी दूर करने के लिए हमेशा से प्रयोग में लाया जाता रहा है। वोमिटिंग की समस्या कुछ प्रकार की गंध से भी उत्पन्न होती है लेकिन, अदरक की गंध उल्टी दूर करने का कार्य करती है। या तो आप अदरक के छिलके को सूंघकर उल्टी से राहत पा सकती हैं, या फिर अदरक की चाय पीकर भी प्रेगनेंसी के दौरान हो रही उल्टी को आसानी से भगाया जा सकता है। अदरक के सूखे हुए छिलकों को पानी में उबालें और ठंडा हो जाने पर इन्हें छानकर शहद मिलाकर पिएँ। ये उपाय दस सेकंड के अन्दर उल्टी का सफल इलाज करता है।

विटामिन B6 का अधिक सेवन करें

अगर शरीर में विटामिन B6 की कमी हो जाती है, तो यह भी उल्टी का एक प्रमुख कारण हो सकता है। विटामिन B6 से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन गर्भावस्था के दौरान आने वाली उल्टी से छुटकारा दिलाने में मदद करेगा। मछली, फलियाँ और लगभग सभी तरह के नट्स में विटामिन B6 आसानी से मिल जाता है, इसलिए गर्भवती महिलाऐं नाश्ते में इन्ही चीजों का सेवन करें।

पुदीना होगा उल्टी में सहायक

प्रेगनेंसी की उल्टी से छुकारा पाने के लिए पुदीने का इस्तेमाल भी किया जा सकता है। इसकी गंध और इसके अन्दर पाए जाने वाले ठण्ड पदार्थ जल्द ही वोमिटिंग पर अपना असर दिखाने लगते हैं। पुदीने की गंध मात्र से आने वाली उलटी को रोका जा सकता है। अगर उलटी की तीव्रता को सहन नहीं कर पा रही हैं, तो पुदीने के सरबत को पियें। गर्भवती महिलाओं को हमेशा पुदीने का सेवन करते रहना चाहिए क्यूंकि, यह केवल उल्टी से नहीं बचाता बल्कि, कई तरह के फायदे प्रदान करता है।

नींबू है प्रेगनेंसी की उल्टी से राहत पाने का सरल उपाय

प्रेगनेंसी के दौरान हो रही वोमिटिंग से छुटकारा पाने के लिए नींबू जैसा इलाज बहुत प्रभावकारी होता है। आमतौर में नींबू का ज्यादातर इस्तेमाल आम बिमारियों को दूर करने में किया जाता है। अगर उल्टी आ रही हो तो नींबू का सरबत पी सकती हैं। इसके अलावा नींबू के ताजे छिलके को सूंघने से भी प्रेगनेंसी के दौरान हो रही वोमिटिंग से छुटकारा पाया जा सकता है। अगर नींबू और पानी के सरबत के साथ थोड़ी मात्रा में शहद मिला लिया जाए, तो यह और तेजी से उल्टी की शिकायत दूर करता है।

सौंफ है pregnancy में उल्टी का आसन इलाज

अगर प्रेगनेंसी के दौरान होने वाली उल्टी का सफल इलाज पाना चाहती हैं तो सौंफ को प्रयोग में लाइए। सौंफ की मदद से आसानी से उल्टी का इलाज किया जा सकता है। इसमें पाए जाने वाले एंटी-ओक्सिडेंट्स शरीर में जाकर तुरंत अपना काम चालू कर देते हैं और उल्टी के असर को तुरंत खत्म कर देते हैं। इसे उल्टी के इलाज के लिए प्रयोग में लाना है तो सबसे पहले सौंफ को पानी में अच्छी तरह से उबालिए। उबल जाने के बाद इसे गुनगुना रहते छान कर शहद मिलाकर पीजिये। इस तरीके से प्रेगनेंसी के दौरान आने वाली वोमिटिंग का इलाज आसानी से हो जाता है। अगर रोजाना सुबह और शाम इसका सेवन करती हैं तो, कभी भी आपको उल्टी की शिकायत नहीं होगी।

सेब का सिरिका दिलाएगा उल्टी से छुटकारा

गर्भवती महिलाऐं वोमिटिंग के इलाज के लिए सेब के सिरके को भी प्रयोग में ला सकती हैं। इस घरेलू उपाय की मदद से आसानी से उल्टी से छुटकारा पाया जा सकता है। इसके लिए सबसे पहले एक चम्मच सिरके को एक गिलास ठन्डे पानी में मिला लीजिये और एक चम्मच शहद भी घोल लीजिये। इस मिश्रण को पीने से बहुत जल्द उल्टी की शिकायत दूर हो जाती है। सेब का सिरका और शहद में मजूद एंटी-ओक्सिडेंट्स उल्टी के मन को बहुत जल्द दूर कर देते हैं।

लौंग है प्रेगनेंसी में वोमिटिंग का घरेलू इलाज

गर्भावस्था के दौरान आ रही अनियमित उल्टी के लिए आप लौंग जैसे घरेलू उपाय की सहायता ले सकती हैं। लौंग को पानी में उबालकर पीने से उल्टी जल्द गायब हो जाती है। लौंग की कलियों को मुंह में रखकर दो से तीन मिनट तक चूसने पर भी उल्टी से छुटकारा पाया जा सकता है। प्रेगनेंसी की वोमिटिंग का सटीक इलाज करना है तो लौंग का सेवन करें। हालाकि, इसे तभी उपयोग में लाना चाहिए जब आपको उल्टी करने का मन कर रहा हो।

बादाम करेगा गर्भावस्था की उलटी का सही इलाज

प्रेगनेंसी के दौरान आ रही उल्टी का एक घरेलू उपाय बादाम भी है। बादाम का सेवन गर्भावस्था में हर महिला को करना चाहिए क्यूंकि, यह इम्युनिटी बढ़ाता है जो आपके बच्चे के लिए भी लाभदायक है। रोजाना रात को सोने से पहले बादाम का सेवन कर लेने से आप सुबह होने वाली उल्टी से बच सकती हैं। गर्भावस्था के दौरान होने वाली उल्टी का एक बहुत बड़ा कारण मोर्निंग सिकनेस भी है जिसे बादाम आसानी से दूर कर देता है।

गर्भवती महिला को उल्टी से बचने के लिए अपनाने चाहिए ये उपाय

  • ज्यादा मात्रा में भोजन का सेवन न करें।
  • ज्यादा चाय न पियें।
  • गाडी के धुंए से दूरी बनाये रखें क्यूंकि, इससे भी उलटी हो सकती है।
  • गर्भवती महिलाऐं ज्यादा दौड़-भाग और सर घुमने वाला कार्य न करें, वर्ना उलटी से जूझना पड़ सकता है।
  • रोजाना रात को सोने से पहले कुछ समय तक ताज़ी हवा में घूमें। यह उपाय उल्टी के असर को कम करेगा।
  • अगर उल्टी आ जाती है तो ऊपर प्रेगनेंसी (गर्भावस्था) के दौरान उल्टी आने के इलाज बातें गए हैं, जिन्हें आप प्रयोग में लायें। ये इलाज बहुत कारागार हैं और इन्हें उपयोग में लाने से कुछ ही मिनटों में उलटी दूर हो जाती है।

Gravatar Image
Lyfcure specifically shares important information related to pregnancy, periods and home remedies. Lyfcure has introduced a lot of pregnancy and health related information to the whole people in 2018 who belongs to india and reads hindi. we are mot popular in India as a health consultant.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *