सफेद दाग का रामबाण इलाज करे safed daag ki cream aur dawa के साथ

Posted on

सफेद दाग का रामबाण इलाज के पहले जाने यह क्या है?: इस रोग में त्वचा पर कई रंग के दाग पड़ जाते हैं| शुरू-शुरू में तो ये छोटे-छोटे चिन्ह के रूप में दिखाई देते हैं| जब रोग बढ़ने लगता है तब वही चिन्ह आपस में मिलकर बड़े हो जाते हैं| इस प्रकार दाग बड़े आकार का हो जाता है| जब रोग बहुत अधिक बढ़ जाता है तब दाग इतना स्थान बना लेते हैं की त्वचा का स्वाभाविक रंग भी लुप्त हो जाता है| अंत में बाल भी सफ़ेद होने लगते हैं| शरीर के किसी बी अंग व किसी भी आयु में यह रोग हो सकता है| जिस स्थान पर दाग रहता है वहां पर किसी भी प्राकार की तकलीफ नही होती है| किसी-किसी को खुजली व जलन हो सकती है| ऊपर दिए गए लक्षण से आप यह पता लगा सकते हैं कि आपको यह समस्या है या नहीं| अगर आपको सफ़ेद दाग है तो आज हम आपको सफेद दाग की दवा “या” safed daag ki dawa को बताएँगे| इसके साथ हम आपको safed daag ka ilaj और safed daag ki cream के बारे में बताएँगे जिनकी मदद से आप आसानी से इस घातक समस्या से छुटकारा पा सकने में सक्षम रहेंगे|

सफ़ेद दाग होने के कारण:

आयुर्वेद के अनुसार

विरुद्ध आहार-विहार के कारण शरीर को धारण करने वाले वात, पित्त और कफ बौखला जाते हैं| जिसके परिणाम स्वरुप इनमे विकार आने से सफ़ेद दाग की उत्पत्ति होती है| विरुद्ध आहार विहार से मतलब आहारों को समय-समय पर ना खाने से है|

 safed daag ka ilaj – आजकल तेल, घी, दूध, आटा आदि में मिलावट की जा रही है| यह मिलावटी भोजन आमाशय में जाने के पश्चात आँतों में खराबी पैदा करता है| इस कारण से लीवर भी खराब हो सकता है| लीवर खराब होने से पित्त का शमन होने लगता है जिससे सफ़ेद दाग हो सकते हैं|

आधुनिक चिकित्सा के अनुसार

आधुनिक चिकित्सक शरीर में दागों का कारण लीवर की खराबी को मानते हैं| इन चिकित्सकों के अनुसार त्वचा में मिलेनिन की कमी हो जाती है तब त्वचा का रंग बदलने लगता है और सफ़ेद दाग का रामबाण इलाज करना पड़ता है|

रोग के जटिल (complex)  होने का कारण

रोग की प्रारंभिक अवस्था से ही यदि इस रोग की समुचित चिकित्सा प्रारंभ का दी जाये तब यह रोग कुछ ही दिनों ने नष्ट किया जा सकता है| अगर इसका इलाज शुरूआती दौर पर नहीं किया जाए तो यह रोग धीरे-धीरे विकराल रूप ले लेता है और जटिल हो जाता है| यह इतना जटिल हो जाता है की इसका इलाज किसी बी तरह के safed daag ki dawa “ya” safed daag ki cream से नहीं किया जा सकता है|

किस तरह के safed daag ka ilaj करना सम्भव है

जहाँ पर सफ़ेद दाग हो उस स्थान के बाल काले हो, चक्कते एक-दुसरे से ना मिले हो, आग से जल न हो तो वे सफ़ेद दाग साध्य हैं| यानी की इन सफेद दाग का रामबाण इलाज safed daag ki dawa या safed daag ki cream से किया जा सकता है|

 

किस तरह के दाद को ठीक नहीं किया जा सकता है

सफेद दाद की दवा या इलाज तभी काम करेगी जब सफेद साध्य (इलाज लायक) होंगे| यदि सफेद दाग वाले स्थानों के बाल भी सफ़ेद हो गए हो, दाग एक दुसरे से मिलकर बड़े हो गए हो, एजी, या तेज़ाब के जल जाने के चलते पैदा हुए हों, काफी उम्र के बाद (60 वर्ष) के बाद पैदा हुए हों, गुप्त स्थान तलवा, गदेली, ओंठ अर्थात रोमेराहित स्थान पर हुए सफेद दाद असाध्य होते हैं| अर्थात, इन सफेद दाग का रामबाण इलाज safed daag ki dawa या safed daag ki cream से कभी भी सही ढंग से नहीं किया जा सकता है| हालाकि आप अजमा सकते हैं| शायद आपके लिए काम आ जाएँ|

जाने- 

सफेद दाग का रामबाण इलाज घरेलू उपचार के द्वारा

हल्दी और सरसों के तेल का पेस्ट:

हल्दी सबसे बेहतर घरेलू तत्वों में से एक है, जिसका उपयोग सफेद दाग के इलाज के लिए किया जा सकता है| हल्दी पाउडर को एक चम्मच लें, और सरसों का दो चम्मच तेल हल्दी के साथ मिला दे और अच्छी तरह मिलाएं। प्रभावित क्षेत्र पर लगाए और 15 मिनट के लिए छोड़ दें फिर धो दें| राहत पाने के लिए प्रतिदिन दो बार इस पेस्ट को अपने प्रभावित जगह पर लागू करें|इससे सफेद दाग का रामबाण इलाज अथवा safed daag ka ilaj संभव है|

बेहतर आयुर्वेद मिश्रण:

हल्दी, आक अलसी, बाकुची प्रात्येक बराबर-बराबर पानी या सेब के सिरके के साथ पीसकर त्वचा में लेप लगाने से सफ़ेद दागों में बहुत आराम मिलता है| इस लेप को चिकित्सा पल्लव किताब में बताया गया है और यह दवा किया गया है की चिकित्सा पल्लव के कुछ पाठको ने इस इलाज को उपयोग में लिए और safed daag ka ilaj का पूर्ण रूप से हकदार हुए|

अदरक का रस:

कच्चे अदरक लें और पानी के साथ पीसकर इसका रस तैयार करें| ल्यूकोडरर्मा को ठीक करने के लिए दिन में दो बार इसे पीएं| इससे सफ़ेद दाग का उपचार संभव है|

काली मिर्च और घी:

यह एक दिलचस्प घरेलू उपचार है जिसका उपयोग ल्यूकोडरर्मा  (सफेद दाग) के इलाज के लिए किया जा सकता है| 10 ग्राम घी लें, और 10 काली मिर्च घी में डालें और गरम करे| घी से काली मिर्च निकालें। आप इस घी को अपने दैनिक भोजन के साथ उपयोग कर सकते हैं| इस घी का नियमित सेवन रक्त को शुद्ध करने और प्रतिरक्षा में सुधार करने में भी मदद कर सकता है, जो safed daag ka ilaj और सफेद दाग का रामबाण इलाज कर पाने में सक्षम है|

अनार का पाउडर:

अनार की सूखे पत्तियों को मुट्ठी भर पीस लें। सफेद दाग का रामबाण इलाज के लिए हर सुबह और शाम 8 ग्राम पाउडर को पानी के साथ पियें| यह आपके रक्त को शुद्ध करेगा और आपको सफेद दाग से मुक्ति प्रदान करेगा| safed daag ka ilaj

safed daag ki cream 

सफ़ेद दाग की क्रीम में शामिल करें Leuco Ointment cream

Leuco-Ointment for safed daag ki cream

अगर आप सफेद दाग के उपचार के लिए कोई cream की खोज में हैं तो आपको Leuco Ointment के नाम से ही पता चल गया होगा की यह cream safed daag ka ilaj के लिए एक बेहतर क्रीम है जो आसानी से आपको बाजार में उपलब्ध हो जाएगी| इसके उपयोग करने से पहले आपको नीचे दीगई कुछ टिप्स फॉलो अर्नी पड़ेगी|

जैसा की आपको पता है की Leuco Ointment, safed daag ki cream में एक बेहतर योगदान निभाती है| इसलिए इसके उपयोग विधि को भी जानना बेहद जरूरी है ताकि यह सही ढंग से दाग को ठीक करने में अपना कार्य कर सके|

  • सबसे पहले आप अपने प्रभावी जगह को अच्छी तरह से पानी से धो लें|
  • अब क्रीम को लगाएं|
  • हर 3 घंटे में प्रभावी जगह को धोएं और क्रीम लगाएं|

Sbl Ammi Visnaga Cream को उपयोग करें सफेद दाग का रामबाण इलाज में:

Ammi Visnaga Cream for safed daag

safed daag ki cream की एक और बेहतर क्रीम Sbl Ammi Visnaga Cream है| यह क्रीम आपको किसी भी मेडिकल स्टोर में आसानी से मिल जाएगी| यह आपके स्किन पर सफेद दाग का उपचार कर आपके स्किन में निखर भी लाता है| इसे उपयोग करने के लिए आप नीच दिए गए तरीके को उपयोग में लाएं|

कैसे उपयोग करें:

  • प्रभावी क्षेत्र को ठंडे पानी से धोकर safed daag ki cream को दिन में तीन से चार बार लगाएँ| यह एक बेहतर safed dag ki cream hai.

safed daag ki dawa – सफेद दाग की दवा

Oxsoralen tablet 

सफेद दाग की दवा में Oxsoralen tablet  safed daag ki dawa के लिए यह अधिकतर डॉक्टर के द्वारा उपयोग  लाने के  सलाह की जाती है| oxsoralen दाग ठीक करने के साथ-साथ त्वचा को पराबैगनी क्रीम से बचाने का काम   करती है| इसका जेनेरिक नाम methoxsalen topical है| इस सफेद दाग की दवा को उपयोग में लाने के लिए आप नीचे दिए गए   टिप्स को उपयोग में लाएं|

  • इस दवा को उपयोग में लाने के लिए आपको डॉक्टर के सलाह लेनी चाहिए| दरअसल, यह आपके शारीरिक क्षमता के अनुसार तय होनी चाहिए|
  • अगर safed daag ki dawa में आप oxsoralen टेबलेट के उपयोग से आपको कोई समस्या होती है तो आपको तुरंत ही इसके बारे में डॉक्टर से चर्चा करनी चाहिए|
  • अगर सफेद दाग की दवा का उपयोग करते वक्त समस्याओं के जन्म होने के बाद उनका अंत नहीं होता है तो आपको इस बात को दोक्टोरसे बताकर दवा का त्याग कर देना चाहिए|
  • safed daag ki dawa की यह टेबलेट 12 वर्ष से कम इम्र के बच्चो को नहीं देना चाहिए|
  • अगर अप गर्भवती है तो इस टेबलेट को उपयोग न करें| अगर करती हैं तो एक बार अपने डॉक्टर से सलाह लें|

अगर नहीं ठीक होती सफेद दाग की समस्या इन दवाइयों और क्रीम से तो उपयोग में लें सर्जरी

अगर ऊपर बताए गए तरीको से सफेद दाग का रामबाण इलाज नहीं हो पाता है तो एक बार डॉक्टर के द्वारा बताई गई सफेद दाग की दवा को उपयोग में लाएं| अगर फिर भी आराम नहीं मिलता है तो आप सफेद दाग ठीक करने के लिए सर्जरी का सहारा लें| यह तय है की सर्जरी की मदद से आसानी से ठीक किया जा सकता है|

उपचार के दौरान रखें ये सावधानियाँ:

  • रोगी प्रातः उठकर भ्रमड व हल्का व्यायाम जरूर करें तभी safed daag ki dawa काम करेगी|
  • भोजन हल्का और पचने लायक होना चाहिए इससे सफेद दाग का रामबाण इलाज करना और आसान हो जाता है|
  • माँसाहारी आहार और नशे के सेवन में ब्रेक लेन से सफेद दाग की दवा और बेहतर कार्य करेगी|
  • अगर इस दौरान आप चने से बने हुए भोजन पर निर्भर रहते हैं तो safed daag ki cream ज्यादा कार्यपूर्ण होगी|
  • अगर आप सफेद दाग का रामबाण इलाज सही ढंग से करना चाहते हैं तो सुबह गोमूत्र का सेवन करें|
  • धूम्रपान को उपयोग में न लाने से सफेद दाग की दवा और बेहतर कार्य करेगी|
  • safed daag ki cream को सही ढंग से कार्य कराने के लिए आप अपने चेहरे को जरूर धुलें|
  •  safed daag ka ilaj ढंग से करने के लिए आप ऊपर बताई गई सारी सावधानियाँ सही ढंग से उपयोग में लाएं|

आपके खातिर हमारे कुछ और लेख

शिव कुमार lyfcure के सबसे बेहतर राइटर में से एक हैं| इनके शब्दों का मुहताज होते देरी नहीं लगेगी| सबसे विशेष बात तो यह है कि ये एक अनुभवी राइटर है जिन्होंने zoology से M.Sc की है| ये आयुर्वेद का पूरा ज्ञान अपने साथ रखते हैं| इन्होने आयुर्वेद की शिक्षा बाँदा से प्राप्त की है....................

12 thoughts on “सफेद दाग का रामबाण इलाज करे safed daag ki cream aur dawa के साथ

    1. अगर दाग ज्यादा हो गया है तो यह ठीक नहीं होगा चाहे आप जितनी दवाई करा लें| आप लेख को अच्छे से पढ़ें और फिर कमेंट करें|

    1. चेहरे में सफ़ेद दाग होने पर आपको इनमे से कोई सवा नहीं यूज करनी है| चेहरा सेंसिटिव होता है इसलिए इसके लिए अलग किस्म की दवाइयां आती है| आपको डॉक्टर के पास जांच करानी चाहिए फिर आप कोई दवा यूज करें|

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *