सिर दर्द का इलाज,50 उपाय,दवाइयाँ,योगासन सावधानियाँ और आहार|sar dard ka ilaj

Posted on

 

सिर दर्द का इलाज  ‘or’ sar dard ka ilaj

सिर में कांटे जैसी चुभन को शिरोरोग कहते हैं अथवा सिरदर्द कहा जाता है चलिए इसके सावधानी, दवाइयाँ और इलाज के बारे में जानते हैं|सिर दर्द का इलाज, दवाइयाँ, योगासन सावधानियाँ और आहार| sar dard ka ilaj

यह भी पढ़ें: माइग्रेन का इलाज, कैसे ठीक करे

यह भी पढ़ें: सिर दर्द के सबसे महत्वपूर्ण कारण, जिन्हें अगर आप कण्ट्रोल में कर लेते हैं तो हर तरह के सिर दर्द से छुटकारा मिल सकता है

सिर दर्द के दौरान सावधानी, सिर दर्द का इलाज, sar dard ka ilaj:

शिरोरोग की समस्या का होना हमारे जीवनशैली में की गई लापरवाही भी हो सकती है| इसलिए, आप अपने साथ उन लापरवाही को न करें जो आपको शिरोरोग की समस्या से उलझा सकते हैं|

शराब पीना शराब का शरीर में ज्यादा डोज ब्लड सर्कुलेशन को प्रभावित करता है और इससे सिर में मौजूद नशों पर असर पड़ता है और आपको शिरोरोग की समस्या हो जाती है|

कम पानी कम पानी पीने से भी sar dard हो सकता है| दरअसल, शरीर के temprature को काबू में रखने के लिए पानी का बहुत महत्व होता है और अगर शरीर को पर्याप्त मात्रा में पानी न मिले तो इससे शरीर का temprature बढ़ जाता है|बढ़ता हुआ temprature सिर दर्द का कारन बन सकता है|

 

sar dard ka ilaj, सिर दर्द का इलाज

खाना खाएं अगर आप खाना खाने में नौटंकी करते हैं तो भी सिर पे पीड़ा हो सकती है|

तनाव से दूरी बनाए रखें– तनाव से भी sar dard हो सकता है, इसलिए आप तनाव से दूरी बना रखें|

सिर दर्द के लिए ख़ास दवाइयाँ

one ए.एल टोटल|

1000 पैरा|

आर्थर पी|

आर्थर एस.पी|

नोट- इन दवाइयों का सेवन डॉक्टर की सलाह से ही करें|

सिर दर्द के घरेलु व आयुर्वेदिक इलाज एवं उपचार:

  • सेधा नमक का लौंग के पाउडर के साथ पेस्ट बनाकर दूध में मिला कर पीने से भी शिरोरोग का नाश संभव है|

-सर में असहनीय दर्द के होने का कारण आपके पेट में उत्पन्न गैस भी हो सकती है| इसलिए अगर आपको गैस की समस्या है और आपके खोपड़ी में दर्द हो रहा है तो आप नीबू और काला नमक का घोल गरम पानी में बनाकर पियें| इससे सर के असहनीय दर्द से छुटकारा पाया जा सकता है|

-सर्दी के वजह से होने वाले सिर में दर्द में गरम दूध को पीना फायदेमंद रहेगा|

-नारियल के तेल को हल्का गरम कर लें और इसमें थोड़ा सा लोहवान मिलाकर अपने मस्तक पर लगाएँ|

  • आपको लहसुन का रस इस्तेमाल करना चाहिए इससे 1 घंटे के भीतर खोपड़ी की असहनीय पीड़ा को शांत कर सकते है|
  • सेब पर नियमित रूप से नमक लगाकर खाने से भी दर्द को ख़तम समझिये| दरअसल, यह एंटी-ऑक्सीडेंट से भरपूर होता है और आपको सिर की असहनीय पीड़ा से निजत दिलाता है|

-धनिया पत्ती को बारीक काट लें और इसका जीरा और अदरक के साथ चाय बनाकर इसका सेवन करें|

 

 आयुर्वेदिक इलाज

1  कानों और आंखों के बीच में कनपटी पर चूने का पेस्ट लगा देने से सर्दी वाला sar dard दूर कर् सकते हैं|

2 अरंडी की जड़ कांजी में पीसकर लेप करने से मस्तक पीड़ा दूर होती है|

3  कपूर और धनिया पानी में पीसकर सिर पर लगाने से या कपूर और धनिया पानी में भिगोकर सूंघने से खोपड़ी का दर्द तुरंत दूर हो जाता है|

4  छुहारे की गुठली पानी में घिसकर सिर पर लगाने से सिर दर्द दूर हो जाता है|

5   शोंठ को दूध में पकाकर सूंघने से किसी भी कारण से पैदा हुआ सिर दर्द दूर हो जाता है|

कुलींजन का चूर्ण  सूघने से छींक आती है तथा मस्तक हल्का होकर सिर का दर्द नष्ट हो जाता है|

7  सिर को बार-बार ठंडे पानी में डुबाने से  पित्तज  सिर दर्द में लाभ होता है|

8   घी को गर्म करके सिर में लगाने से sar dard की पीड़ा शांत हो जाती है|

9  कायफल की नस्य लेने से  कफज शिरोरोग दूर होता है|

10  पीपल, मोथा, सोंठ, मुलेठी, शतावर, कमल इन सब को पानी के साथ पीसकर लेप लगाने से सिर का दर्द दूर होता हैl

11 त्रिकुटा, हल्दी, गिलोय तथा अश्वगंधा  इनके  काढ़ा को नाक द्वारा पीने से sar dard दूर हो जाता है|

12  आधा पाव खोवा की पट्टी मस्तक पर बांधने से सभी प्रकार के सिरदर्द दूर हो जाते हैंl

13  हर्रा, बहेड़ा, आंवला, गिलोय, हल्दी और नीम की छाल एवं गुड़ इन का काड़ा सब प्रकार के सिर के दर्द को दूर करता है|

14  सीप का चूर्ण एवं नौसादर कोएक साथ मिलाकर सूंघने से सिर का दर्द अवश्य ठीक हो जाता है |

15   जमालगोटा पानी में पीसकर सींक में लगाकर सिर पर लेप करने तथा 1 मिनट बाद जिले कपड़ा द्वारा पूछ लेने से पुराना सिर दर्द एक ही बार में ठीक हो जाता है इस दवा को सिर में 1 मिनट से ज्यादा नहीं रखना चाहिए अन्यथा  फफोला हो जाएगा|

16  दालचीनी का तेल लगाने से sar dard खासकर बादी सिर दर्द ठीक हो जाता है|

17  सेंधा नमक तथा पीपल दोनों को एक साथ पीसकर सिर में लगाने से सिर दर्द को दूर कर सकते है|

18  त्रिकुटी, करंज के बीज तथा सहेजने के बीज इन्हें एक साथ पीसकर बकरी के मूत्र में मिलाकर माथे पर लगाने से शिरोरोग अर्थात सिर में असहनीय दर्द दूर होता है यदि इन्हें गोमूत्र में पीसकर माथे पर लगाया जाए तो यह तभी भी लाभ देता है|

19  ककड़ी के टुकड़े तथा कद्दू के ताज़ा छिलके सिर पर रखने से गर्मी का sar dard दूर होता है|

20  2 तोले इमली को पानी में भिगोकर माल ले फिर उसमें चीनी मिलाकर पी लें इससे गर्मी में होने वाला सिर दर्द ठीक हो जाता है|

21  मेहंदी के फूल या मेहंदी के पत्तों को पानी में पीसकर सिर पर लगाने से भी गर्मी में हो रहा शिरोरोग शांत हो जाता है|

22  कपूर अथवा चंदन  सूंघने से अथवा दोनों को मिलाकर सूंघने से या खीरा ककड़ी  सूंघने से भी सिरदर्द को भगाया जा सकता है|

23  सफेद चंदन पानी में पीसकर सिर पर लगाने से सिर का दर्द दूर हो जाता है अगर खींचते समय थोड़ा सा कपूर भी मिला लें तो और अच्छा रहता है|

24  धनिया 4 ग्राम और कहू4 ग्राम पीसकर पानी में मिला लें और थोड़ी सी चीनी मिलाकर 10 ग्राम इसबगोल छिड़क कर पियें| सिरदर्द समाप्त हो जाता है|

25  गुलरोगन में अफीम पीसकर सिर पर मलने से गर्मी का sar dard दूर कर सकते है|

26  सोंठ, काली मिर्च, पीपल, बिजोरा तथा  सहजने के बीज बकरी के दूध में पीसकर माथे पर लगाने से शिरोरोग अर्थात सिर में भयंकर दर्द दूर हो जाता|

27  कूठ, अरंड की जड़ तथा शोंठ गरम करें तथा सिर में गर्म गर्म ही लगाने से सिर की चुभन दूर हो जाती है|

28   शोंठ को अरंडी के तेल के साथ पीसकर और गर्म करके सिर पर लगाने से सर्दी में होने वाला सिर दर्द दूर कम जाता है|

29  अरंडी, शोंठ  को पानी में पीसकर तथा गर्म करके सिर पर लगाने से sar dard से छुटकारा पाया जा सकता हैl

30  काली मिर्च, पीपल तथा लौंग इन सबको या इन में से किसी एक को पीसकर नाक में  गिराने से सर्दी और सिर दर्द का इलाज संभव है इससे ठंडी के कारण होने वाला सिरदर्द का उपचार भी संभव है|

31  काला जीरा को पानी में पीसकर माथे पर रगड़ने से sar dard ka ilaj संभव है इससे सिर दर्द का उपचार आसानी से कर सकते  है|

32  एक बादाम को रात भर भिगो दें और सुबह सरसों के तेल में घिसकर सिर पर लगाएं इससे sar dard ka upchar पूरी तरह से संभव है यह तरीका गर्मी में हो रहे सिर दर्द का उपचार कर सकता है|

33  बायबिडंग, शोंठ तथा गुण इन तीनों को गर्म पानी में पीसकर नाक में गिराए इससे सर्दी से होने वाले सिर दर्द का इलाज संभव है|

34  अरीठे के झाग को गर्म करके उसकी ढाई बूंदे दोनों नाक में टपकाए इससे आधे खोपड़ी में दर्द से आराम हो जाता hai|

35  पीपर, काली मिर्च तथा हरण कांजी में पीसकर लेप लगाने से आधासीसी का दर्द दूर होता है उसे किसी भी प्रकार के सिर दर्द का इलाज अथवा सिर दर्द का उपचार संभव है|

36  निर्मली को पानी में घिसकर उसकी चार बूंदे नाक में डालने से भी दर्द ठीक हो जाता है|

37  तिल का रस अथवा तिल का तेल शहद तथा सेंधा नमक के साथ मिलाकर लेप लगाने से सिर दर्द को ठीक किया जा सकता है|

38  मुलेठी,दाग तथा मिश्री को एक साथ पीसकर माथे पर लगाने अथवा दालचीनी मिश्री एवं तेजपात को एक साथ चावल के पानी में पीसकर माथे पर लगाने से सिर दर्द का इलाज संभव है|sar dard ka ilaj

39  दूध और घी को मिलाकर नस्य देने अर्थात माथे पर लगाने से भी खूनी sar dard ठीक किया जा सकता है|

40  बच को पीसकर कपड़े की पोटली में रखकर सूंघने से सर्दी जुखाम तथा सिर दर्द को ठीक किया जा सकता है|

41 sonth को पानी में पीसकर और दूध में मिलाकर सूंघने से अनेक दोषों से हुआ सिर दर्द का इलाज किया जा सकता हैl

42  पीपल तथा सेंधा नमक पानी में घिसकर उसकी दो से तीन बूंद नाक में टपकाने से सिर का दर्द तुरंत दूर हो जाता हैl

43  बच तथा पीपल के चूर्ण को एक साथ कर लें और इन्हें सूंघने से सिर दर्द को ठीक किया जा सकता हैl

44  प्याज काट कर सूंघने से गर्मी का सिर दर्द दूर हो जाता है| sar dard ka ilaj

45  सतावर काला तिल मुलहठी नीलकमल पुनर्नवा और दूध इन सबको इकट्ठा करने अब भी और बच के साथ मिलाकर सूंघने से सिर का दर्द अथवा सिर दर्द का इलाज संभव हैl

46   गुलरोगनऔर कपूर मिलाकर नाक में दो तीन बूंद डालने से सूर्य के उगते  दौरान से  सूर्य के डूबने तक  होने वाला सिर  दर्द ठीक हो जाता है|

47  अदरक का रस और पीपल इन सबको मिलाकर पेस्ट बना लें और माथे पर लगाएं इससे भी सिरदर्द को ठीक या इलाज किया जा सकता है|

48 चकवड़ की बीज कांजी में पीसकर लेप करने से आधासीसी का दर्द दूर हो जाता है|

49  धनिया, चंदन, कासनी, पानी के साथ पीसकर लेप करने से सिर का दर्द ठीक हो जाता है|

50   घी में सेंधा नमक पीस कर लेप लगाने से सिरदर्द का इलाज संभव है| sar dard ka ilaj

सिर दर्द के लिए योग:

वज्रासन  

इस असहनीय दर्द से इलाज पाने के लिए वज्रासन बहुत ही कारगर है जो अक्सर होने वाले सिर दर्द को खतम कर सकता है| ‘सिर दर्द का इलाज, दवाइयाँ, योगासन सावधानियाँ और आहार| sar dard ka ilaj’ यह सिर तक होने वाले रक्त के संचार को सही करता है| सबसे अच्छी बात यह है कि इस आसन को आप खाना खाने के बाद भी कर सकते हैं, जो सिर में होने वाले दर्द को हद तक कंट्रोल करता है|

शीतली प्राणायाम

बबा रामदेव के कई विडियो में आपको इस प्राणायाम के बारे में मिल जाता है| शीतली प्राणायाम के तो कई फायदे होते हैं, लेकिन शीतली प्राणायाम की मदद से आप सिर दर्द को खतम किया जा सकता है| दरअसल यह तनाव को कम करने और आपके दिमाग को पूरी तरह से फ्रेश रखने में मदद करता है| तनाव में कमी सिर के बोझ को हल्का करते हैं जिससे सिर में हो रही शूल को खतम किया जा सकता है| sar dard ka ilaj

 

कपालभाती

सर्दियों के समय होने वाले असहनीय शूल से कपालभाती आराम दिलाता है| कपालभाती प्राणायाम को 5 मिनट नियमित रूप से अपने उपयोग में लाएं| इससे सिर के दर्द को ठीक कर सकते हैं| “सिर दर्द का इलाज, दवाइयाँ, योगासन सावधानियाँ और आहार | sar dard ka ilaj”

अनुलोम-विलोम

अनुलोम-विलोम के जरिए सिर के दर्द को कम किया जा सकता है| इसके लिए आप रोज सुबह का 10 मिनट का वक्त जरूर निकालें| sar dard ka ilajki

सिर दर्द के दौरान क्या खाएँ?

  • सबसे पहले यह सुनिश्चित कर लें कि आप समय पर खाएँगे|
  • बदाम के इस्तेमाल करें| दरअसल एक शोध के मुताबिक, बादाम में पाए जाने वाले मैग्नीशियम, आपके शरीर के रक्त वाहिकाओं को आराम दिलाकर सिरदर्द की मार से बचा सकता है|
  • मस्तिष्क कैल्शियम पर निर्भर करता है ताकि वह कुशलतापूर्वक कार्य कर सके, ऐसे में दही का सेवन करना आपके लिए उचित होगा|
  • आंवला, अनार और आम का सेवन करना उचित रहेगा| अगर आप नारियल का पानी पीते हैं तो यह और भी फायदेमंद होगा|
  • करेला के सेवन से भी सर दर्द को कंट्रोल में किया जा सकता है|

सिर दर्द में क्या न खाएं?

  • तीखे और मसालेदार आहार का सेवन करने से बचें।
  • गरिस्ठ पदार्थ का सेवन करने से बचें|
  • अधिक गरम पानी न पियें या अधिक गरम पदार्थ का सेवन न करें|
  • अधिक ठंडा पदार्थ का सेवन भी सिर दर्द को प्रभावित कर सकता है|सिर दर्द का इलाज,50 उपाय,दवाइयाँ,योगासन सावधानियाँ और आहार|sar dard ka ilaj

आपने क्या पढ़ा- सिर दर्द का इलाज, sar dard ka ilaj, sir dard ka ilaj

Leave a Reply

You have to agree to the comment policy.

3 thoughts on “सिर दर्द का इलाज,50 उपाय,दवाइयाँ,योगासन सावधानियाँ और आहार|sar dard ka ilaj