कैंसर से जुड़े कुछ जरूरी सवाल-जबाव जिसे हर इंसान को जानना जरूरी है

हर इंसान की यह चाह होती है की वह स्वस्थ रहे, इसके लिए वह हर तरीकों का इस्तेमाल करता है| आज हम कुछ सवाल-जबाव लेकर उपस्थित हुए हैं जिन्हें आपको पढ़ना बहुत आवश्यक है| तो चलिए जानते हैं|

कैंसर के कौन-कौन से टेस्ट हैं जो साल में एक बार हर उम्र के व्यक्ति को करवाना चाहिए?

कैंसर का चेकअप हर साल कराना चाहिए| कांस्ट का पता लगाने के लिए का कोई विशेष test नहीं है| लेकिन, खासतौर पर महिलाओं को 45 वर्ष से 70 वर्ष की उम्र तक हर वर्ष मोनोग्राफी test और PAP test करांना चाहिए| यह जांच ३०-३5 की उम्र से हर साल कराना चाहिए|

भारत में सामान्य व्यक्ति में अक्सर कौन-कौन से कैंसर पाए जाते हैं?

पुरुषों में तम्बाकू सेवन और धूम्रपान से मुह का कैंसर, फेफड़ों का कैंसर, और प्रोस्टेट कैंसर अधिक होता है| वहीं महिलाओं में सामान्यतः स्तन कैन्सर, सर्वाइकल कैंसर और मुह के कैंसर के केस ज्यादा सामने आते हैं|

ऐसा कौन सा लक्षण है जिसे हर व्यक्ति को ध्यान देना चाहिए?

कोई एक विशिष्ट लक्षण नहीं है| उदाहरण के लिए स्तन में गांठ होने पर जरूरी नहीं है की कैंसर ही हो| लेकिन, इन्हें नजरंदाज नहीं किया जाना चाहिए|

मुह का कैंसर – जीभ/गाल के भीतर की ओर दो हफ्ते से अधिक समय तक छाले रहना|

पेट का कैंसर – भूँख में कमी, खान-पान की आदतों में बदलाव, मल-द्वार से रक्त आना, अचानक वजन कम हो जाना|

स्तन कैंसर – स्तन में गाँठ, स्तन के अगले भाग से खून का रिसाव|

सर्वाइकल कैंसर – रक्तस्त्राव, दुर्गंध युक्त  डिस्चार्ज,  शारीरिक सम्बन्धके बाद  रक्तस्त्राव|

फेफड़ों का कैंसर – लार में खून आना, लम्बे समय तक कफ रहना|

क्या कैंसर अनुवांशिकी होता है?

ज्यादातर कैंसर अनुवांशिकी नहीं होते हैं| स्तन कैंसर और अंडाशय के कैंसर के करीब 10 परसेंट केस ही अनुवांशिकी होते हैं| पेट के कैंसर के कुछ प्रकार भी अनुवांशिक हो सकते हैं|

स्वस्थ व्यक्ति को दिनचर्या में किस तरह की सावधानियाँ बरतनी चाहिये?

पोषण युक्त आहार लें, नियमित रूप से व्यायाम करें और उपरोक्त लक्षणों को नजरअंदाज न करें| सबे जरूरी बात यह है की अगर ऊपर बताए गए कोई भी लक्षण ज्यादा दिन तक नजर आए तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएं|

shiv kumar upadhyay

Shiv Kumar is one of the best writer of lyfcure. All articles are cross-checked by Shiv before being public and if any mistakes happen, He works to correct it and then the health related articles are published. The most special thing is that it is an experienced writer who has done M.Sc from zoology. He has received Naturopathy education from Banda.

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *